• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • हिंदुओं को वो मंदिर वापस किए जाएं जिन्हें तोड़कर मस्जिदें बनाई गईं : रिजवी
--Advertisement--

हिंदुओं को वो मंदिर वापस किए जाएं जिन्हें तोड़कर मस्जिदें बनाई गईं : रिजवी

भास्कर न्यूज नेटवर्क | लखनऊ शिया सेंट्रल बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने बुधवार को ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:00 AM IST
भास्कर न्यूज नेटवर्क | लखनऊ

शिया सेंट्रल बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने बुधवार को ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के अध्यक्ष को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होंने लिखा कि हिंदू समाज के मंदिरों को तोड़कर बनाई गई सभी मस्जिदों को हिंदू समाज को वापस किया जाना चाहिए। मुगल बादशाहों ने और उनसे पहले हिंदुस्तान आए सुल्तानों ने हिंदुस्तान को लूटा, यहां हुकूमत की और मंदिरों को भी तोड़ा। कुछ मंदिरों को तोड़कर वहां मस्जिदें बनवा दीं। इस्लाम के उद्देश्य में कब्जे वाली जगह या किसी इबादतगाह को जबरन तोड़कर मस्जिद बनाया जाना जायज नहीं है। ऐसी मस्जिदों में किसी भी तरह की कोई अल्लाह की इबादत जायज नहीं है। इतिहासकारों का अध्ययन कर मैं यह जानकारी दे रहा हूं, जो कि मुगलों द्वारा व उनसे पहले आए सुल्तानों द्वारा मंदिरों को तोड़कर बनवाई गई है।

इन मंदिरों को वापस करने के लिए लिखा पत्र : वसीम रिजवी ने पत्र लिखकर ने ये नौ मंदिर हिंदुओं को वापस करने की बात कही है। इनमें राममंदिर (अयोध्या), केशव देव मंदिर (मथुरा), अटाला देव मंदिर (जौनपुर), काशी विश्वनाथ मंदिर (वाराणसी), रूद्रा महालया मंदिर (गुजरात), भद्रकाली मंदिर (अहमदाबाद), अदीना मस्जिद (पंडुआ, पश्चिम बंगाल), विजया मंदिर, (विदिशा, मध्यप्रदेश), मस्जिद कुवतुल इस्लाम, कुतुब मीनार (दिल्ली) शामिल हैं।

मौलाना बोले- होली के दिन जुम्मे की नमाज एक घंटा देरी से अता की जाएगी

लखनऊ |
होली त्योहार शुक्रवार को आने पर मुस्लिम धर्मगुरुओं ने बड़ी पहल की है। इस्लामिक सेंटर ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली तथा शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद ने कहा है कि हिंदू भाइयों के होली का त्योहार मनाने के बाद मुस्लिम समुदाय जुम्मे की नमाज एक घंटा देरी से अता करेंगे। फिरंगी महली ने कहा हिंदू-मुस्लिम भाईचारे का उदाहरण एक बार फिर पेश करने का यह अच्छा मौका है। इस पर लखनऊ समेत उप्र के कई जिलों में जुम्मे की नमाज का वक्त बदल दिया है।