• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • पंचायत में विकास कार्य न कराने पर सरपंच-सचिवों को दिए नोटिस
--Advertisement--

पंचायत में विकास कार्य न कराने पर सरपंच-सचिवों को दिए नोटिस

पंचायतों में काम के लिए पर्याप्त धन राशि होने के बावजूद विकास कार्य नहीं कराए गए हैं। जनपद पंचायत अंतर्गत 30 ग्राम...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:05 AM IST
पंचायतों में काम के लिए पर्याप्त धन राशि होने के बावजूद विकास कार्य नहीं कराए गए हैं। जनपद पंचायत अंतर्गत 30 ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं सचिवों को विकास कार्य में उदासीनता एवं लापरवाही बरतने को लेकर कारण बताओ नोटिस जारी किए गए है।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी सचिन गुप्ता ने बताया कि ग्राम पंचायतों के खातों में पर्याप्त राशि होने के बावजूद भी सरपंच एवं सचिवों द्वारा अपने कर्तव्यों के प्रति उदासीनता बरत रहे हैं, जिससे गांव का विकास रुक रहा है और मूलभूत सुविधाओं से लोग वंचित हैं। जबकि शासन की मंशा है कि गांव का समुचित विकास हो, जिसके लिए वह राशि मुहैया करा रही है, इसको लेकर मध्य प्रदेश पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा 40 के तहत सरपंचों को पद से पृथक करने एवं सचिवों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के नोटिस जारी किए गए हैं। नोटिस का जबाव निर्धारित अवधि 7 मार्च तक उपस्थित होकर प्रस्तुत करना होगा। ग्राम पंचायत दिगौडा, बृषभानुपरा, कुर्राई, नन्दवारा, गौर, छिपरी, लारखुर्द, मालपीथा, लुहरगुवॉ, फतेह का खिरक, वीरउ, मौंगना, भौरगण, पनयाराखेरा, बम्हौरी खास, बैरवार, शिवराजपुरा, पूनौल खास सहित 30 पंचायतों को नोटिस जारी किए गए हैं।