सागर

--Advertisement--

सिद्वचक्र महामंडल विधान के समापन पर निकली शोभायात्रा

भास्कर संवाददाता। पृथ्वीपुर दिगंबर जैन मंदिर में चल रहे सिद्धचक्र महामण्डल विधान के समापन नगर में श्रीजी की...

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:45 AM IST
भास्कर संवाददाता। पृथ्वीपुर

दिगंबर जैन मंदिर में चल रहे सिद्धचक्र महामण्डल विधान के समापन नगर में श्रीजी की शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा का जगह-जगह स्वागत किया गया। आरती उतारी गई। शोभायात्रा मंदिर प्रांगण से शुरु होकर चौक बाजार, पुजरयाना, आंबेडकर तिराहा, बस स्टैंड, बाजार रोड होते िनकली। जैन समाज के लोगों ने घरों के सामने रंगोली सजाकर शोभायात्रा का स्वागत किया। बडी संख्या में महिलाएं पुरुष हाथों में धर्मध्वज लेकर चल रहे थे। युवा बैण्ड बाजों की धुनों पर जमकर थिरक रहे थे। शोभायात्रा के समापन उपरांत भण्डारे का आयोजन किया गया। इस अवसर पर प्रेमचंन्द्र जैन,, विमलेश बुखारिया, कल्लू जैन, चंद्रकुमार जैन, मुुकेश जैन, पुरुषोत्तम जैन, महेंद्र जैन, सुरेंद्र जैन, कमलेश जैन, विजय जैन, सचिन जैन, अजय जैन, देवेन्द्र जैन, राजेश जैन, संतोष जैन, आकाश जैन, लखन चन्द्र जैन, वीरू जैन, गुड्डन जैन, नवीन जैन, सुधीर जैन, सोनू जैन, अरूण जैन, अनिल बुखारिया, आदि उपस्थित थे।

कथा में श्रीकृष्ण लीलाओं का मंचन किया: जतारा। नगर के झझरन मोहल्ला में भागवत कथा का वाचन किया जा रहा है। शनिवार को कथा वाचक जयप्रकाश शास्त्री ने कृष्ण की बाल लीलाआंे का वर्णन किया, जिसमेंे माखन चोरी, नटखट कान्हा की लीलाओं के साथ उन्होंने बृज की होली का वर्णन किया गया। कथा वाचक ने होली का त्योहार, प्रेम और सौहार्द का प्रतीक है। बृज की होली का रंग अलग ही है। उन्होंने गीत के माध्यम से बताया कि आज बृज में होली के रे रसिया जिस पर श्रोता गण जमकर झूमे।

X
Click to listen..