• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • आयोजकों की लापरवाही से पंजीकृत 44 जोड़ों में से सिर्फ 35 के हुए विवाह
--Advertisement--

आयोजकों की लापरवाही से पंजीकृत 44 जोड़ों में से सिर्फ 35 के हुए विवाह

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत जनपद पंचायत राजनगर द्वारा सामूहिक कन्या विवाह सम्मेलन का अायाेजन किया गया। पर...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:45 AM IST
मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत जनपद पंचायत राजनगर द्वारा सामूहिक कन्या विवाह सम्मेलन का अायाेजन किया गया। पर आयोजकों की लापरवाही के चलते आयोजन में भारी अव्यवस्थाएं देखने को मिलीं। इसी लापरवाही अाैर उदासीनता के चलते विवाह के लिए कुल कराए गए 44 जोड़ों के पंजीयन में से केवल 35 जोड़ों के विवाह कराए गए।

सामूहिक विवाह सम्मेलन के आयोजन के पहले पर्याप्त प्रचार प्रसार नहीं कराया गया। जिससे पंजीयन कराने एवं विवाह सम्मेलन में कम संख्या में जोड़े शामिल हुए। हालांकि जो जोड़े शामिल हुए, उन्हें एवं उनके परिजनों को भी असुविधाओं का सामना करना पड़ा।

जनपद पंचायत परिसर में आयोजित इस सामूहिक विवाह सम्मेलन में पंजीकृत 44 में से 35 जोड़ों की विद्वान आचार्यों ने अग्नि कुंड के समक्ष वैवाहिक रस्में पूरी कराईं। विवाह बंधन में बंधे प्रत्येक जोड़े को 5 हजार कीमत की रोजमर्रा की सामग्री मौके पर प्रदान की गई। प्रत्येक वधु के खाते में जरूरी सामग्री खरीदी के लिए 17 हजार रुपए डाले गए। इसके अलावा 3 हजार रुपए स्मार्ट फोन खरीदने के लिए खाते में डाले गए।

सूत्रों से पता चला है कि विवाह सम्मेलन में पहुंचे 2 जोड़ाें को जनपद पंचायत अधिकारियों के गैर जिम्मेदाराना रवैया के चलते बिना विवाह के वापस घर लौटना पड़ा। इस मौके पर जनपद सीईओ जेएस तिवारी, खजुराहो विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ..घासीराम पटेल, भाजपा मंडल अध्यक्ष दयाशंकर पटेल, भाजपा नेता श्यामबाबू त्रिवेदी सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी गण मौजूद रहे।

राजनगर। नवविवाहित जोड़े को आशीर्वाद प्रदान करते अतिथि गण।