• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • यात्रा... अयोध्या यात्रा पर पैदल निकले श्रद्धालु, 22 दिन बाद होंगे भगवान श्रीरामराजा सरकार के दर्शन
--Advertisement--

यात्रा... अयोध्या यात्रा पर पैदल निकले श्रद्धालु, 22 दिन बाद होंगे भगवान श्रीरामराजा सरकार के दर्शन

टीकमगढ़। शिवधाम कुंडेश्वर से गुरूवार को एक दर्जन से अधिक श्रद्धालु अयोध्या धाम के लिए पैदल रवाना हुए। 22 दिन की पैदल...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 03:55 AM IST
टीकमगढ़। शिवधाम कुंडेश्वर से गुरूवार को एक दर्जन से अधिक श्रद्धालु अयोध्या धाम के लिए पैदल रवाना हुए। 22 दिन की पैदल यात्रा के बाद अयोध्या धाम पहुंचकर श्रीरामराजा सरकार के दर्शन करेंगे। ध्यानी कुशवाहा ने बताया कि पदयात्री नचनवारा और अस्तौन देवी मंदिर से रवाना हुए। कुंडेश्वर में भोलेनाथ के दर्शन करने के बाद श्रद्धालु पैदल यात्रा पर निकले। उन्होंने बताया कि टीकमगढ़ से मऊरानीपुर, गुरसराय, कालपी, कानपुर नैमिशरण धाम पहुंचेंगे। जिसके बाद अयोध्याधाम के लिए निकलेंगे। 22 दिन पैदल यात्रा करने के बाद अयोध्या पहुंचकर सरयु जल में स्नान करके श्रीराम राजा के दर्शन करेंगे। जहां से भोलेनाथ की नगरी काशी के लिए रवाना होंगे। पैदल यात्रा के दौरान मिलने वाले धार्मिक स्थलों के दर्शन कर विश्राम किया जाएगा। यात्रा में बंशी, श्याम कुशवाहा, जूजू सेन, किशोरी कुशवाहा, गनपत कुशवाहा सहित अन्य ग्रामीण शामिल हैं।

प्रदर्शन...आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने सीएम के नाम फिर सौंपा ज्ञापन, आंदोलन की दी चेतावनी

टीकमगढ़। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिका संघ ने धरना देने के बाद गुरूवार को फिर सीएम के नाम ज्ञापन सौंपा। कार्यकर्ताओं का कहना है कि लगातार प्रदर्शन करने के बाद भी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की मांगों को पूरा नहीं किया जा रहा है। 28 फरवरी को प्रदेश के बजट में कार्यकर्ता, सहायिका, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को न तो शासकीय घोषित किया गया। और न ही मानदेय बढ़ाया गया। जिसको लेकर भारतीय मजदूर संघ ने शासन द्वारा प्रस्तुत बजट का पुरजोर विरोध किया है। जिलाध्यक्ष संगीता श्रीवास्तव ने बताया कि एक बार फिर सीएम शिवराज सिंह के नाम प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया। हमारी मांगें है कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका को शासकीय कर्मचारी घोषित किया जाए। कार्यकर्ताओं को न्यूनतम वेतनमान दिया जाए। कार्यकर्ताओं की उम्र का बंधन हटाया जाए। सुपरवाइजर और आंगनबाड़ी के रिक्त पदों को भरा जाए। इसके साथ अन्य मांगें शामिल है। मांगों को लेकर तहसीलदार रोहित वर्मा को ज्ञापन सौंपा। अगर जल्द ही हमारी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

समाज, धर्म, क्लब, एसोसिएशन, डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, नर्सेज, पुलिस, शिक्षक, चैम्बर ऑफ कॉमर्स