• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • निरीक्षण में फर्नीचर दुकान को कंप्यूटर सेंटर के बदले दिखावा दिया
--Advertisement--

निरीक्षण में फर्नीचर दुकान को कंप्यूटर सेंटर के बदले दिखावा दिया

बिजावर|माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा डीसीए और पीजीडीसीए के लिए प्रदेश स्तर पर मान्यता देने...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:05 AM IST
बिजावर|माखनलाल चतुर्वेदी विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा डीसीए और पीजीडीसीए के लिए प्रदेश स्तर पर मान्यता देने अक्टूबर 2016 को आवेदन मांगे गए थे। जिसमें विश्वविद्यालय को प्रदेश के विभिन्न भागों से करीब 3500 आवेदकों ने आवेदन किए थे। शुरूआती दौर से ही प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से यह प्रक्रिया विवादों के घेरे में आने लगी थी, क्योंकि मान्यता देने के खेल में भ्रष्टाचार को हवा मिलने लगी थी और यह भ्रष्टाचार के कारण मान्यता की यह प्रक्रिया समाचार पत्रों के अलावा प्रादेशिक समाचार चैनलों की सुर्खियों बनने लगी थी ।

इसी क्रम में विश्वविद्यालय का एक फर्जीवाड़ा बिजावर तहसील में भी देखने को मिलने लगा है। जानकारी के मुताबिक बिजावर में भी 13 फरवरी 2018 को नौगांव निवासी अवधेश मिश्र के सेंटर मां शारदा काॅलेज आॅफ कम्प्यूटर साइंस को मान्यता देने के लिए एक निरीक्षण दल को टीकमगढ़ के व्याख्याता की अध्यक्षता में भेजा गया। यहां पर निरीक्षण दल से सेंटिंग कर एक फर्नीचर की दुकान को ही फर्जी तरीके से जांच में काॅलेज की जगह दिखवा दिया गया। निरीक्षण दल के चले जाने के बाद उक्त फर्नीचर की दुकान में पूर्व की भांति ही फर्नीचर, आशा कार्यालय और एक बीज भंडार की दुकान संचालित होने लगी है। विश्वविद्यालय स्तर पर मान्यता के नाम पर चलाए जा रहे गोरखधंधे और भ्रष्टाचार की जांच करने एवं दोषियों पर कार्रवाई करने के लिए नगर वासियों ने मांग की है।