Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» साथी की गिरफ्तारी से नाराज माफिया ने वन विभाग के टावर पर की फायरिंग

साथी की गिरफ्तारी से नाराज माफिया ने वन विभाग के टावर पर की फायरिंग

अपने साथी की गिरफ्तारी से नाराज वन माफिया ने वन विभाग के वॉच टावर पर फायरिंग कर दहशत फैला दी। माफिया ने दो फायर गेट...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 02, 2018, 05:00 AM IST

साथी की गिरफ्तारी से नाराज माफिया ने वन विभाग के टावर पर की फायरिंग
अपने साथी की गिरफ्तारी से नाराज वन माफिया ने वन विभाग के वॉच टावर पर फायरिंग कर दहशत फैला दी। माफिया ने दो फायर गेट पर किए तथा तीसरा हवाई फायर किया। इस घटना से यहां मौजूद बीट गार्ड घबरा गए। दहशत फैलाने के बाद माफिया फरार हो गया। घटना बुधवार रात करीब 1 बजे की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है।

वन विभाग के मुताबिक 28 फरवरी की रात लगभग 12 बजे मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ बंदूकधारी लोग पेड़ काटने के लिए भेलसा बीट गए हैं।

वन परिक्षेत्र अधिकारी राजकुमार शिवहरे ने इन लोगों को पकड़ने तत्काल टीम गठित कर मौके पर भेजा। टीम ने नए गांव महारापुरा के तालाब के पास घेराबंदी की। रात 2 बजे कुछ लोग साइकिल पर सागौन की लकड़ी ले जाते दिखे। पास में आने पर इनकी पहचान रामशंकर यादव, करन एवं बबलू रैकवार के रूप में की गई। इस बीच रामशंकर यादव ने बंदूक तान ली। वन कर्मचारियों ने उसकी बंदूक छीन ली। रामशंकर को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से लकड़ी भी जब्त की गई। इस घटना की जानकारी जब रामशंकर के साथी वन माफिया धर्मंद्र यादव को लगी। गुस्से में आकर दूसरे दिन वह अपनी बोलेरो से रात में वॉच टावर पहुंचा और बीट गार्ड से अभद्र व्यवहार करने लगा। इसके बाद फायरिंग शुरु कर दी। दो फायर वॉच टावर के गेट पर लगे। तीसरा हवाई फायर किया। काफी देर तक दहशत फैलाने के बाद फरार हो गया।

भास्कर संवाददाता | ओरछा

अपने साथी की गिरफ्तारी से नाराज वन माफिया ने वन विभाग के वॉच टावर पर फायरिंग कर दहशत फैला दी। माफिया ने दो फायर गेट पर किए तथा तीसरा हवाई फायर किया। इस घटना से यहां मौजूद बीट गार्ड घबरा गए। दहशत फैलाने के बाद माफिया फरार हो गया। घटना बुधवार रात करीब 1 बजे की है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच में लिया है।

वन विभाग के मुताबिक 28 फरवरी की रात लगभग 12 बजे मुखबिर से सूचना मिली कि कुछ बंदूकधारी लोग पेड़ काटने के लिए भेलसा बीट गए हैं।

वन परिक्षेत्र अधिकारी राजकुमार शिवहरे ने इन लोगों को पकड़ने तत्काल टीम गठित कर मौके पर भेजा। टीम ने नए गांव महारापुरा के तालाब के पास घेराबंदी की। रात 2 बजे कुछ लोग साइकिल पर सागौन की लकड़ी ले जाते दिखे। पास में आने पर इनकी पहचान रामशंकर यादव, करन एवं बबलू रैकवार के रूप में की गई। इस बीच रामशंकर यादव ने बंदूक तान ली। वन कर्मचारियों ने उसकी बंदूक छीन ली। रामशंकर को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से लकड़ी भी जब्त की गई। इस घटना की जानकारी जब रामशंकर के साथी वन माफिया धर्मंद्र यादव को लगी। गुस्से में आकर दूसरे दिन वह अपनी बोलेरो से रात में वॉच टावर पहुंचा और बीट गार्ड से अभद्र व्यवहार करने लगा। इसके बाद फायरिंग शुरु कर दी। दो फायर वॉच टावर के गेट पर लगे। तीसरा हवाई फायर किया। काफी देर तक दहशत फैलाने के बाद फरार हो गया।

ओरछा। आराेपी ने दरबाजे पर की फायरिंग। इनसेट फायरिंग के बाद चौकी पर मिले छर्रे।

निगरानीशुदा बदमाश है धर्मेंद्र

फायरिंग करने वाला वन माफिया पृथ्वीपुर थाने का निगरानीशुदा बदमाश है। थाने में बदमाशों की सूची में उसका नाम शामिल है। पुलिस ने मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरु कर दी है। वह पहले भी वन कर्मचारी पर हमला कर चुका है।

आरोपी धमेंद्र।

बीट गार्ड बोला- निहत्थे हैं हम लोग

बीट गार्ड राजेंद्र पाल का कहना है कि वन माफियाओं से निपटने के लिए हम लोग निहत्थे हैं। हम लोगों के पास हथियार रहते हैं भी तो उसे चलाने के लिए आदेश की जरुरत होती है। बिना आदेश के हम लोग कुछ नहीं कर सकते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Madhya Pradesh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: साथी की गिरफ्तारी से नाराज माफिया ने वन विभाग के टावर पर की फायरिंग
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×