• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • एसी चलाने वाले शहर के 10 हजार उपभोक्ताओं के कनेक्शन चैक होंगे
--Advertisement--

एसी चलाने वाले शहर के 10 हजार उपभोक्ताओं के कनेक्शन चैक होंगे

हाईप्रोफाइल बिजली चोरों को पकड़ने के लिए मप्र पूर्व क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी उनके कनेक्शन और लोड की जांच करेगी।...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:15 AM IST
हाईप्रोफाइल बिजली चोरों को पकड़ने के लिए मप्र पूर्व क्षेत्र बिजली वितरण कंपनी उनके कनेक्शन और लोड की जांच करेगी। कंपनी ने हाईप्रोफाइल कनेक्शनधारियों का मुख्य पैमाना उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले बिजली के उपकरण एयर कंडीशनर को बनाया है।

जानकारी के मुताबिक कंपनी के पास शहर 9500 से अधिक कनेक्शनधारी करीब 10 हजार एयर कंडीशनर का उपयोग कर रहे हैं। कंपनी ने अपनी इस गणना का आधार मीटर रीडर की रिपोर्ट सहित बाजार में प्रतिवर्ष बिकने वाले एयर कंडीशनर की औसत संख्या को बनाया है।

सर्च में पिछले साल पकड़े गए थे सफेदपोश : कंपनी सूत्रों के अनुसार एयर कंडीशनर उपयाेग करने वालों पर ध्यान इसलिए दिया जा रहा है क्योंकि पिछले साल की गई सर्च में इनमें कई कनेक्शनधारी चोरी की बिजली से घर, दुकान और ऑफिसों में ठंडक कर रहे थे। इनमें से अधिकांशत: रसूखदार सफेदपोश थे। हालांकि बदनामी के डर से अधिकांश ने चोरी पकड़े जाने के कुछ दिन के भीतर मय पेनॉल्टी के बिल भी जमा कर दिया था।

हजारों यूनिट की चोरी से

लगती है लाखों की चपत

सिटी डिविजन के डीई एसके सिन्हा का कहना है कि घरेलू उपयाेग वाले बिजली के उपकरणों में एयर कंडीशनर की बिजली की खपत सबसे ज्यादा है। 1 टन का एक एसी 1500 वॉट और 1.5 टन का एसी 2250 वाट की बिजली एक घंटे में क्रमश: 1.50 और 2.25 यूनिट बिजली की खपत करता है। अगर किसी व्यक्ति के घर में 1.5 टन के दो एसी लगे हैं तो एक दिन में औसतन 35-40 यूनिट इन्हीं में खर्च होगी। महीने में यह 1000 यूनिट औसतन 6-7 हजार रुपए की होती हैं। इसी औसतन से अगर शहर में कम से कम 1000 एसी भी चोरी की बिजली से चल रहे हैं तो उससे कंपनी को लाखों रुपए महीने का नुकसान हो रहा है।

लोड भी कम मिला तब भी करेंगे कार्रवाई

डीई सिन्हा के अनुसार जरूरी नहीं है कि जो कंज्यूमर चोरी की बिजली से एयर कंडीशनर नहीं चला रहे है, उन्होंने कंपनी से अपने कनेक्शन का लोड बढ़वाया हो। पिछली सर्च में कई कनेक्शन ऐसे भी मिले थे जो एक या दो किलोवॉट के कनेक्शन में एक से चार एयर कंडीशनर तक चला रहे थे। ऐसे कनेक्शनधारियों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। सिन्हा के अनुुसार के मार्च के पहले सप्ताह से एयर कंडीशनधारियों की चेकिंग शुरू हो जाएगी। इसमें घरेलू से लेकर व्यवसायिक यानी होटल, ऑफिस, दुकान, फैक्टरी आदि सभी की सर्च होगी।