• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • आप पढ़ रहे हैं देश का सबसे विश्वसनीय और नंबर 1 अखबार
--Advertisement--

आप पढ़ रहे हैं देश का सबसे विश्वसनीय और नंबर 1 अखबार

वैर-घृणा भूलें क्षण की भूल-चूक लेनी-देनी में सदा सफलता जीवन की - हरिवंशराय बच्चन की कविता ‘होली’ से

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 05:20 AM IST
वैर-घृणा भूलें क्षण की

भूल-चूक लेनी-देनी में

सदा सफलता जीवन की

- हरिवंशराय बच्चन की कविता ‘होली’ से