Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» विद्यार्थी नया नहीं पढ़ेंगे पुरानी कक्षाओं का करेंगे रिवीजन

विद्यार्थी नया नहीं पढ़ेंगे पुरानी कक्षाओं का करेंगे रिवीजन

प्राथमिक से हायर सेकंडरी तक के स्कूल इस बार सोमवार से शुरू हो जाएंगे। इस बार एक खास बात यह भी है कि विद्यार्थी जिस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 05:40 AM IST

प्राथमिक से हायर सेकंडरी तक के स्कूल इस बार सोमवार से शुरू हो जाएंगे। इस बार एक खास बात यह भी है कि विद्यार्थी जिस कक्षा में पहुंचेगा, उस कक्षा की पढ़ाई नहीं कराई जाएगी। बल्कि पिछली कक्षा का रिवीजन करने को ही कहा जाएगा। उसी में से उसका टेस्ट भी कराया जाएगा। कक्षा-9वीं के विद्यार्थी पिछली कक्षा-8वीं की पढ़ाई का रिवीजन करेंगे। उसी से उनका 5 अप्रैल को टेस्ट होगा। इसी प्रकार कक्षा-10वीं में पहुंचे विद्यार्थी कक्षा-9वीं की पढ़ाई का रिवीजन करेंगे। कक्षा-9वीं से लेकर 12वीं तक ऐसा ही हाल सभी कक्षाओं का रहेगा। वहीं प्राइमरी और मिडिल स्कूल में जॉयफुल लर्निंग योजना के तहत किस्से-कहानियां आदि पढ़ाई और सुनाई जाएंगी। स्कूल ओलंपियाड भी होंगे, जिनमें विद्यार्थी खेलकूद की गतिविधियों में हिस्सा लेंगे। यह सब इसलिए किया जा रहा है, ताकि विद्यार्थी इस बार जो नया बदलाव किया जा रहा है, उसके अनुसार अपने आप काे ढाल लें। नियमित कक्षाएं कब से लगेंगी, इसको लेकर नए निर्देश नहीं आए हैं। ऐसा पहली बार होगा जब 10वीं बोर्ड की परीक्षा देने वाले सभी विद्यार्थी पास होने के पूर्व ही 11वीं की कक्षा में बैठ सकेंगे। दरअसल, सरकार ने इन सभी विद्यार्थियों को फरवरी में हुई प्री-बोर्ड परीक्षा के आधार पर प्राविधिक प्रवेश देने का फैसला किया है। जिले में 43 हजार से अधिक स्टूडेंट्स का यह प्रवेश दिलाया जाएगा। स्कूल शिक्षा विभाग ने पहली से 12वीं तक की सभी शालाओं में 15 अप्रैल के पूर्व प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं।



प्राइमरी से मिडिल स्कूल तक में आनंदमयी माहौल में शुरु होगा सत्र, पढ़ाई के दबाव से मुक्त बच्चे खेलेंगे-कूदेंगे और सुनेंगे कहानियां

अन्य कक्षाओं के भी नतीजे नहीं आए

जिले में अब तक सिर्फ कक्षा पांचवीं, आठवीं, नौवीं और 11वीं के नतीजे ही घोषित किए गए हैं। लोकल की पहली से चौथी, छठी, सातवीं के नतीजे भी अभी नहीं आए हैं। जिला शिक्षाधिकारी ने इसके नतीजे 10 अप्रैल के पूर्व घोषित करने के निर्देश दिए हैं।

15 तक प्रवेश लेना जरूरी

कक्षा-10वीं के वे स्टूडेंट्स जिनका नतीजा बोर्ड द्वारा बाद में घोषित किया जाएगा, उन्हें भी नई प्रवेश प्रक्रिया के तहत 11वीं कक्षा के लिए प्राविधिक प्रवेश लेना अनिवार्य किया गया है। नतीजा आने के बाद फेल होने की स्थिति में संबंधित के प्रवेश रिवर्स हो सकेंगे।

12वीं की स्थिति स्पष्ट नहीं

जो स्टूडेंट्स 12वीं की परीक्षा दे रहे हैं, उनके नतीजे भी देरी से आएंगे। उनका यदि साल बिगड़ेगा तो वे पुन: बारहवीं में कैसे प्रवेश ले सकेंगे, यह फिलहाल स्पष्ट नहीं किया गया है।

इस बार ऐसे चलेगा सत्र

2 अप्रैल से 30 अप्रैल तक स्कूल खुले रहेंगे।

1 मई से 15 जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश रहेगा।

16 जून से पुन: सत्र आगे शुरु होगा।

2 अप्रैल से सत्र शुरू की करने की वजहें

जून-जुलाई में प्रवेश प्रक्रिया होने से पढ़ाई का महत्वपूर्ण समय गुजर जाता है।

प्रवेश में देरी होने से आधे सत्र तक योजनाओं का लाभ नहीं मिल पाता।

प्राविधिक प्रवेश देंगे

सोमवार से जिले भर के स्कूल खुल जाएंगे। लोकल की कुछ कक्षाओं के नतीजे घोषित होने हैं, वे जल्द घोषित हो जाएंगे। विद्यार्थियों की रिवीजन क्लास लगेंगी। जिससे उनका बौद्धिक स्तर सामने आए और उस हिसाब से उन्हें आगे पढ़ाने की कार्ययोजना बनेगी। - संतोष शर्मा, डीईओ सागर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×