• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • गढ़ाकोटा की शराब दुकानों की नहीं हो पाई नीलामी, अब सरकारी महकमा संभालेगा
--Advertisement--

गढ़ाकोटा की शराब दुकानों की नहीं हो पाई नीलामी, अब सरकारी महकमा संभालेगा

जिला आबकारी विभाग के अंतर्गत आने वाली गढ़ाकोटा की दो देसी और एक अंग्रेजी दुकान की नीलामी नहीं हो पाई है। नतीजतन इन...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:40 AM IST
जिला आबकारी विभाग के अंतर्गत आने वाली गढ़ाकोटा की दो देसी और एक अंग्रेजी दुकान की नीलामी नहीं हो पाई है। नतीजतन इन दुकानों को सरकारी कर्मचारी चला सकते हैं। 31 मार्च को वित्त वर्ष के आखिरी दिन तक यह दुकाने नीलाम नहीं हो सकी। 6 करोड़ रुपए की सरकारी कीमत वाली इन दुकानों के लिए ठेकेदारों ने 5.56 करोड़ रुपए की बोली लगाई थी।

जिसके चलते इन दुकानों का एलाॅटमेंट नहीं हो पाया। नियमानुसार अब आबकारी विभाग को इन दुकानों के लिए दोबारा टेंडर बुलाने होंगे। इसमें औसतन तीन दिन लग सकते हैं। तब तक शासन के पास दो विकल्प हैं या तो वह खुद ही अपने कर्मचारी बैठाकर शराब बिकवाए या इस अवधि में दुकान पूरी तरह से बंद रखे।

लक्ष्य के करीब पहुंचा विभाग, इस वर्ष होगी 233 करोड़ की आय: आबकारी विभाग ने जिले की 32 अंग्रेजी और 72 देसी दुकानों से से 2.33 अरब रुपए की लाइसेंस फीस जुटाने का लक्ष्य रखा था। इसमें से विभाग को 2.27 अरब की लाइसेंस फीस तय हो गया है। अगले तीन दिन में अगर गढ़ाकोटा की दुकानें भी नीलाम होती हैं तो फिर लक्ष्य में करीब 6 करोड़ रु. का और इजाफा हो जाएगा। बता दें कि ताजा समाप्त हुए वित्त वर्ष में सागर जिले से सरकार के खजाने में आबकारी विभाग ने 202 करोड़ रुपए जमा कराए गए थे।