• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • खराब श्रेणी से निकलकर सीधे सी-ग्रेड में आया सागर
--Advertisement--

खराब श्रेणी से निकलकर सीधे सी-ग्रेड में आया सागर

निर्वाचन आयोग बीएलओ नेट के जरिए घर-घर जाकर नए मतदाताओं के नाम जोड़ने, मृत या डुप्लीकेट नाम हटाने और जरूरत के...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 05:40 AM IST
निर्वाचन आयोग बीएलओ नेट के जरिए घर-घर जाकर नए मतदाताओं के नाम जोड़ने, मृत या डुप्लीकेट नाम हटाने और जरूरत के मुताबिक संशोधन करने के विशेष अभियान में सागर जिला की स्थिति सुधर गई है। 27 मार्च को जहां सागर को आयोग ने सबसे खराब श्रेणी में रखा था, वह अब सुधर गई है।

सागर जिला खराब श्रेणी से निकलकर डी-ग्रेड से भी ऊपर उठकर अब सीधे ग्रेड-सी में आ गया है। जिले में 72 फीसदी मतदाताओं का सत्यापन हो चुका है। यह पूरी प्रगति निर्वाचन आयोग के सख्त रवैया के बाद आई है। दरअसल मतदाताओं और मतदाता फैमिली की टैगिंग का काम 50 फीसदी से भी कम हाेने के चलते आयोग ने 27 मार्च को सूची जारी कर सागर सहित शिवपुरी, बुरहानपुर एवं उज्जैन को सबसे खराब ग्रेड दी थी। तब सागर में 46.14 प्रतिशत ही काम हुआ था। चार दिनों में इसमें 26 प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह आंकड़ा 72 फीसदी पर पहुंच गया। वहीं उज्जैन, शिवपुरी और बुरहानपुर अभी भी सबसे खराब की श्रेणी में ही बने हुए हैं। पहले स्थान पर 97.23 प्रतिशत काम के साथ छिंदवाड़ा पहले नंबर पर ही बना हुआ है।

संभाग से एक-एक जिला ए और सी तो तीन बी-ग्रेड में

4 दिन पहले जहां सागर सबसे खराब की श्रेणी में था और जिलों के हिसाब से ओवरऑल 48वें स्थान पर था। वह अब 35वें स्थान पर आ गया है। वहीं छतरपुर 96.23 प्रतिशत के साथ प्रदेश में दूसरे स्थान पर बना हुआ है। दमोह को बी ग्रेड मिली है। यहां 87.51 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। प्रदेश में ओवरऑल 20वां स्थान है। टीकमगढ़ 81.34 प्रतिशत का पूरा कर बी-ग्रेड के साथ 27 वें नंबर पर पहुंच गया है। पन्ना 80.96 फीसदी काम के साथ प्रदेश में बी-ग्रेड में स्थान बना चुका है। प्रदेश में 28वीं रैंक है। दमोह

बीना-बंडा टॉप पर, रहली-सागर फिसड्डी

वोटर सत्यापन के काम में बीना और बंडा विधानसभा के कर्मचारी अव्वल साबित हुए हैं। बीना में 93.62 ताे बंडा में 93.12, खुरई में 81.05, देवरी में 72.82, सुरखी में 65.26, नरयावली में 65.02, सागर में 62.97 और रहली में मात्र 40.92 प्रतिशत काम ही हुआ है। इधर मिशन-2020 की तैयारियां शुरु, मशीनें होंगी चेक : एक ओर जहां विधानसभा चुनाव-2018 की मतदाता सूची का वेरीफिकेशन चल रहा है, वहां स्थानीय निर्वाचन शाखा ने 2020 में होने वाले स्थानीय निकाय एवं त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियां भी शुरु कर दी हैं। स्थानीय निर्वाचन में ट्रेनिंग के लिए दल बन गया है। 5 से 7 के बीच भोपाल में ट्रेनिंग होगी, जिसके लिए दल वहां जाएगा। जल्दी ही 13 हजार मशीनों की जांच भी की जाएगी। इससे यह पता लग सकेगा कि कितनी मशीनें ठीक हैं और कितनी खराब। यदि कुछ कमी होती है तो उन्हें सुधरवाया जाएगा।

दो स्तर पर तेजी से चल

रहा है काम

इस संबध में उप जिला निर्वाचन अधिकारी प्रभा श्रीवास्तव का कहना है बीएलओ नेट में हम अब सी-ग्रेड में आ गए हैं। जल्दी ही शतप्रतिशत का लक्ष्य पूरा करेंगे। इसके साथ ही 2020 में होने वाले स्थानीय निकाय और त्रि-स्तरीय पंचायत राज चुनाव के लिए भी अभी से तैयारियां शुरु कर दी गई हैं।