Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» कोर्ट से स्टे, सरकारी सेवा में ज्वाइन स्टेनोग्राफर व टाइपिस्ट नहीं हटेंगे

कोर्ट से स्टे, सरकारी सेवा में ज्वाइन स्टेनोग्राफर व टाइपिस्ट नहीं हटेंगे

स्टेनोग्राफर एवं टाइपिंग परीक्षा 2013 को 2017 में निरस्त करने वाले आदेश के विरोध में दायर याचिका में हाईकोर्ट के चीफ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 06:30 AM IST

स्टेनोग्राफर एवं टाइपिंग परीक्षा 2013 को 2017 में निरस्त करने वाले आदेश के विरोध में दायर याचिका में हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस हेमंत गुप्ता एवं विजय कुमार शुक्ला की युगल पीठ ने याचिकाकर्ताओं की नौकरी यथास्थिति में बनाए रखने का आदेश पारित किया है।

अधिवक्ता आरपी सिंह ने बताया कि सागर एसपी ऑफिस में पदस्थ सूबेदार ज्योति कोष्ठी ने हाइकोर्ट में याचिका दायर की थी। याचिका की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति की युगलपीठ ने सभी याचिकाओं के याचिकाकर्ता की सेवा में यथास्थिति बनाए रखने और अनावेदकों को दो सप्ताह में जबाव पेश करने के आदेश दिए हैं।

इससे पहले चीफ जस्टिस ने 17 जनवरी को इस संबंध में हाईकोर्ट की विभिन्न पीठों में दायर सभी याचिकाओं की सुनवाई ज्योति कोष्ठी के प्रकरण से संलग्न कर सुनवाई करने के आदेश दिए थे। शासन की ओर से बीडी सिंह ने पैरवी की।

यह है मामला

शासन ने टाइपिंग एवं स्टेनोग्राफर की योग्यता परीक्षा वर्ष 2013 में सफल 2947 उम्मीदवारों का रिजल्ट एसटीफ पुलिस की रिपोर्ट के आधार पर 2017 में निरस्त कर दिया था। इस परीक्षा के निरस्त करने के पहले टाइपिंग बोर्ड द्वारा कोई जांच नहीं की गई और न ही सफल उम्मीदवारों को व्यक्तिगत सुनवाई का अवसर दिया। साथ ही परीक्षा के बाद सरकारी सेवा में ज्वाइन हुए आवेदकों की सेवा समाप्त करने के लिए नोटिस भी जारी कर दिए थे। इसके विरोध में सफल उम्मीदवारों ने शासन सहित अन्य के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×