Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» ठेकेदारों ने कैसा काम किया यह जानने कैंट प्रशासन ने शुरु कराया “थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन”

ठेकेदारों ने कैसा काम किया यह जानने कैंट प्रशासन ने शुरु कराया “थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन”

सागर. कैंट में माल की गुणवत्ता जांचते इंजीनियर। कैंट में सिविल वर्क की जांच के लिए सीईआई कंपनी को किया अपॉइन ...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 07:30 AM IST

ठेकेदारों ने कैसा काम किया यह जानने कैंट प्रशासन ने शुरु कराया “थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन”
सागर. कैंट में माल की गुणवत्ता जांचते इंजीनियर।

कैंट में सिविल वर्क की जांच के लिए सीईआई कंपनी को किया अपॉइन

अभिषेक यादव | सागर

कैंट एरिया में सिविल वर्क करने वाले ठेकेदारों की सांसें ऊपर नीचे हो रही हैं। कारण ये है कि कैंट प्रशासन ने उनके काम की गुणवत्ता की जांच के लिए “थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन “ शुरु करा दिया है। सीईओ अभिमन्युसिंह के अनुसार इस काम के लिए हाल ही में केंद्र सरकार की कंपनी, सर्टिफिकेशन इंजीनियर्स इंटरनेशनल लिमिटेड (सीईआई) अपॉइन्ट किया गया है।

यह कंपनी वित्त वर्ष 2017-18 एवं अगले वित्त वर्ष के दौरान होने वाले प्रत्येक निर्माण, सुधार, जीर्णोद्धार, रोड मार्किंग जैसे सभी सिविल वर्क का तकनीकी और भौतिक रूप से परीक्षण करेगी। सीईओ सिंह के अनुसार, कंपनी के एक इंजीनियर तुषार तालेकर तीन दिन से यह काम कर रहे हैं।

बता दें कि संभाग में कैंट प्रशासन द्वारा पहली बार थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन के जरिए सिविल वर्क की गुणवत्ता की जांच कराई जा रही है। राज्य शासन के आरईएस, पीडब्ल्यूडी सरीखे विभाग यह काम प्राइवेट लैब या सरकारी इंजीनियरिंग कॉलेज के जरिए कराते हैं।

किसी का फाइनल पेमेंट नहीं किया, कमी मिली तो खैर नहीं

सीईओ सिंह का कहना है कि इस इंस्पेक्शन के संबंध में पीडब्ल्यूडी शाखा के सब-इंजीनियर एसके जैन को विस्तार से निर्देश दिए गए हैं। फिलहाल इंजी. तालेकर पिछले एक साल में बनी सड़कें, नालियां, नए भवन आदि के निर्माण एवं पुराने स्ट्रक्चर्स के मेंटेनेंस वर्क का भौतिक सत्यापन कर रहे हैं। इस दौरान उन्हें टेंडर की शर्तें, एस्टीमेट का ब्योरा, मेजरमेंट बुक की डीटेल से लेकर लागत संबंधी दस्तावेज उपलब्ध कराए गए हैं।

इस इंस्पेक्शन के बाद वे मुझे अपनी रिपोर्ट देंगे। अगर इसमें संबंधित ठेकेदार द्वारा काम में गुणवत्ता नहीं रखी गई या अन्य कोई गड़बड़ी की गई हे तो उसका फाइनल बिल पास नहीं होगा। गंभीर खामियां सामने आने पर उसे ब्लैक लिस्टेड भी किया जा सकता है।

इस वित्त वर्ष में हो

चुके हैं 6 करोड़ रुपए

के काम

कैंट की पीडब्ल्यूडी शाखा के मुताबिक इस वित्त वर्ष में अब तक करीब 6 करोड़ रुपए के काम हुए हैं। इनमें प्रमुख रूप से कैंट-सिटी लिंक रोड के रूप सीसी रोड, डामल रोड, छावनी अस्पताल का रिनोवेशन, वार्ड क्रमांक तीन, चार में नाले और नालियों का निर्माण, डीएनसीबी स्कूल में सुधार कार्य, सभी सड़कों पर थर्मोप्लास्ट, रोड साइड इंडिकेटर आदि लगाने का काम कराया गया है। यह सारे काम अलग-अलग ठेकेदारों ने किए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Madhya Pradesh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ठेकेदारों ने कैसा काम किया यह जानने कैंट प्रशासन ने शुरु कराया “थर्ड पार्टी इंस्पेक्शन”
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×