• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • Sagar - अभाविप के विवि अध्यक्ष और कार्यकर्ता में मारपीट, प्रशासन ने नहीं की कार्रवाई
--Advertisement--

अभाविप के विवि अध्यक्ष और कार्यकर्ता में मारपीट, प्रशासन ने नहीं की कार्रवाई

डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय में मंगलवार को छात्र खुलेआम गुंडागर्दी करते रहे। साइंस और कॉमर्स विभागों के सामने...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:01 AM IST
डॉ. हरीसिंह गौर विश्वविद्यालय में मंगलवार को छात्र खुलेआम गुंडागर्दी करते रहे। साइंस और कॉमर्स विभागों के सामने दो पक्षों में दो बार मारपीट हुई। मामला थाने भी पहुंचा। जहां दोनों पक्षों के बीच समझौता भी हो गया। लेकिन इस पूरे मामले में अब तक विश्वविद्यालय प्रशासन चुप है। प्रशासन का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। लेकिन अब तक झगड़े में शामिल विद्यार्थियों के नाम सामने आने के बाद भी उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

दरअसल मामला अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के बीच आंतरिक विवाद का है। जानकारी के अनुसार मामले में एमसीए के छात्र अंकित ठाकुर ने कॉमर्स विभाग के छात्र अभिषेक यादव पर मारपीट के आरोप लगाए हैं। अभिषेक यादव अभाविप में विवि का अध्यक्ष है जबकि अंकित कार्यकर्ता। दोनों में परिषद के चुनाव को लेकर झगड़े की बात सामने आई है। इससे परिषद के कार्यकर्ता दो गुटों में बंट गए और आपस में मारपीट शुरू हो गई। यह मारपीट का सिलसिला सुबह हॉस्टल से लेकर विभागों तक चलता रहा, लेकिन न तो विश्वविद्यालय के सुरक्षाकर्मी सामने आए और न ही प्रशासन। खुलेआम गुंडागर्दी चलती रही। अंकित के शिकायती आवेदन पर सिविल लाइन पुलिस ने जब कार्रवाई शुरू की तो मामले को तूल दिए बिना दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया।