सागर

--Advertisement--

परस्वाहा जलाशय के घाट पर बना दीं अवैध दुकानें

जबेरा के ग्राम परस्वाहा में सार्वजनिक तालाब अतिक्रमण की चपेट में होने के कारण अपना अस्तित्व धीरे-धीरे खोता जा रहा...

Dainik Bhaskar

May 12, 2018, 04:10 AM IST
परस्वाहा जलाशय के घाट पर बना दीं अवैध दुकानें
जबेरा के ग्राम परस्वाहा में सार्वजनिक तालाब अतिक्रमण की चपेट में होने के कारण अपना अस्तित्व धीरे-धीरे खोता जा रहा है। इसके घाट पर अवैध कब्जा करके दर्जनों दुकानें बना ली गई हैं। खास बात यह है कि इन दुकानों को एक बार भी हटाया नहीं गया है। जिससे पंचायत और राजस्व के अधिकारों की कार्यशैली पर सवाल खड़ा हो गया है।

गौरतलब है कि इस निस्तारी तालाब का उपयोग पूरा गांव करता है। मवेशी भी इसी के पानी से 12 माह अपनी प्यास बुझाते हैं। तीन दशक पहले तक लोग इसके पानी का उपयोग पीने के लिए भी करते थे, लेकिन आज इसकी स्थिति दयनीय हो गई है। इसमें जमा गंदगी, कचरा पानी को बदबूदार बना रही है। इसके मुख्य घाट पर अतिक्रमण के चलते बनी दुकानों से ग्रामीणों को तालाब तक पहुंचने तक का रास्ता भी अवरुद्ध हो गया है।

बुजुर्ग रामलाल, विजयलाल ने बताया कि गांव के जीवनदायिनी इस एकमात्र तालाब की ओर किसी का ध्यान नहीं हैं। पंचायत द्वारा मनरेगा व वॉटरशेड के नाम पर लाखों रूपए बर्बाद हुए, लेकिन एक भी जल सरंचना में पानी नहीं बचा, लेकिन जिस तालाब में पानी रहता है उसकी ओर किसी का ध्यान नहीं है। इस संबंध में एसडीएम बृजेंद्र रावत का कहना है कि मैं जनपद सीईओ को निर्देश देता हूं कि जिन गांव में तालाब अस्तित्व खो रहे हैं, उनके संरक्षण के लिए प्रयास किए जाएं।

पंचायत से लेकर जिला प्रशासन वर्षों से बना है मूकदर्शक, अतिक्रमण की चपेट में आने से अपना अस्तित्व खो रहा

बनवार। अतिक्रमण की चपेट में आने से ण्सिकुड़ता जा रहा परस्वाहा का तालाब।

X
परस्वाहा जलाशय के घाट पर बना दीं अवैध दुकानें
Click to listen..