Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» 30 दिन में होने वाला नामांतरण सिर्फ 3 दिन में करने की तैयारी

30 दिन में होने वाला नामांतरण सिर्फ 3 दिन में करने की तैयारी

प्लॉट और जमीन के नामांतरण को आसान करने के लिए शुरू की गई लोक सेवा गारंटी योजना में 30 दिन में होने वाला नामांतरण अब...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 02:20 AM IST

प्लॉट और जमीन के नामांतरण को आसान करने के लिए शुरू की गई लोक सेवा गारंटी योजना में 30 दिन में होने वाला नामांतरण अब महज तीन दिन में होगा। इसके लिए तहसील दफ्तरों में मेल मर्जिंग सिस्टम डेवलप किया जा रहा है। एक नया साॅफ्टवेयर बनाया जा रहा है। इसकी मदद से एक बार एंट्री करने पर एक हजार तक नोटिस जारी कर दिए जाएंगे। नामांतरण का आवेदन अपलोड करने पर आटोमैटिक नोटिस, इश्तेहार, पटवारी, आरआई रिपोर्ट की सूचना एक बार में जनरेट हो जाएगी। इससे तहसील दफ्तरों में होने वाले कामों में तेजी जाएगी। लोक सेवा गारंटी योजना के तहत जमीन और प्लॉट के नामांतरण का आवेदन करने पर नामांतरण अविवादित होने पर तीस दिनों में करना पड़ता है। तय समय में नामांतरण नहीं करने पर संबंधित तहसीलदार पर रोजाना के हिसाब से जुर्माना लगाया जाता है। इस सॉफ्टवेयर के लागू होने से एक महीने में होने वाला काम तीन दिन में हो जाएगा। इसमें नामांतरण विवादित होने पर केस की सुनवाई की जाएगी। इस व्यवस्था से नामांतरण, बंटवारा, डायवर्जन वसूली, बैंक वसूली, अतिक्रमण सहित अन्य मामलों में आसानी हो जाएगी।

कर्मचारियों की कमी से आया आइडिया

तहसील दफ्तरों में स्टाफ की कमी को देखते हुए कलेक्टर सुदाम पी खाडे ने मेल मर्जिंग सिस्टम डेवलप करने की पहल की है। इसके बाद स्टाफ को मेल मर्ज सिस्टम की ट्रेनिंग दी जाएगी। जिससे इन्हें काम करने में आसानी होगी।

एक एंट्री पर जारी होंगे एक हजार नोटिस

ऐसे काम करेगा सिस्टम

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और एक्सेल पर यह सिस्टम काम करेगा। इसके तहत कम्प्यूटर पर दर्ज की गई एक एंट्री आटोमैटिक संबंधित पटवारी, आरआई, तहसीलदार और एसडीएम को ट्रांसफर हो जाएगी। इधर जिन लोगों को इससे संबंधित नोटिस जारी किए जाने हैं, वह भी आटोमैटिक जनरेट हो जाएंगे। फायदा यह होगा कि किसी स्तर पर देरी नहीं रहेगी।

तीन माह में हो जाएगी शुरू

आम लोगों की सुविधा के लिए काम किया जा रहा है। तीन महीने के भीतर नई व्यवस्था लागू कर दी जाएगी। कलेक्टोरेट में रोजाना सैकड़ों लोगों के नोटिस जारी किए जाते हैं। इसमें नोटिस जारी करने में आसानी होगी। सुदाम पी खाडे, कलेक्टर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×