सागर

--Advertisement--

घरेलू बाजारों में हल्दी की आवक 35 से 40 लाख बोरी

घरेलू बाजारों में अभी तक 35 से 40 लाख बोरी हल्दी की आवक हो चुकी है। इतनी आवक के बावजूद हल्दी में तेजी का वातावरण बनता जा...

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 02:30 AM IST
घरेलू बाजारों में अभी तक 35 से 40 लाख बोरी हल्दी की आवक हो चुकी है। इतनी आवक के बावजूद हल्दी में तेजी का वातावरण बनता जा रहा है। कुछ विशेषज्ञ हल्दी में और भी बड़ी तेजी में बैठे हैं। देखना यह है कि उनकी यह धारणा कब तक सफल सिद्ध होगी। कम स्टॉक को देखते हुए स्टॉकिस्ट सक्रिय हो सकते हैं। जानकार क्षेत्रों के अनुसार इस साल हल्दी के उत्पादन को लेकर पहले से ही आशंकाएं व्यक्त की जा रही थी, किंतु बाजार में ठंडी ग्राहकी एवं खोपरा बूरा और खोपरा गोला की तेजी की वजह से व्यापारियों का ध्यान हल्दी की तरफ जा ही नहीं पा रहा था। इसके अलावा वायदों में मंदी की वजह से तेजी का रुख होने के बावजूद चल नहीं पाया था। पिछले 15 दिनों में हल्दी के व्यापार ने जोर पकड़ा है। देखते ही देखते 20 से 25 रुपए किलो की झड़पी से तेजी आ गई।

कालीमिर्च में मंदी

व्यापारियों का मानना है कि बाजारों में हल्दी का एक बड़ा हिस्सा बाजार में आ चुका है। 25 से 30 लाख बोरी आना शेष है। निजामाबाद में 2 से 3 लाख और सांगली में 2 से 3 लाख बोरी का स्टॉक होने का अनुमान लगाया जा रहा है। इस वजह से देरी से ही सही स्टॉकिस्टों की सक्रियता बढ़ने की संभावना व्यक्त की जा रही है। हल्दी का उत्पादन पिछले वर्ष से 8 से 10 लाख बोरी का कम बताया जा रहा है। पिछले वर्ष 70 लाख बोरी का उत्पादन हुआ था, इस वर्ष 60 से 62 लाख बोरी का हो सकता है। केरी ओव्हर स्टॉक 20 से 22 लाख बोरी का था। कालीमिर्च में 4 रुपए किलो की कमी की गई है।

सियागंज बाजार में शकर 2810 से 2840 गुड़ लड्‌डू 3200 कटोरा 3150 से 3200 चौरसा 2750 से 2800 हल्दी काढ़ी 11500 से 12000 लाल गाय 150 पावडर-501 2051 खोपरा गोला 198 से 203 खोपरा बूरा व्हील 4600 साबूदाना 4200 से 4300 मीडियम 4400 से 4600 बेस्ट 4700 से 4850 ग्लास 4800 से 5400 कालीमिर्च गारवल 397 से 405 एटम 411 से 417 मटरदाना 475 से 485 जीरा राजस्थान 155 से 165 ऊंझा हल्का 170 से 175 मध्यम 185 से 192 बेस्ट 200 से 205 सौंफ मोटी 85 से 95 मीडियम 115 से 140 बेस्ट 165 से 190 बारीक 170 से 190 नारियल मद्रास नया पानी 120 भरती 1750 से 1800 160 भरती 2150 से 2200 200 भरती 2650 से 2700 250 भरती 2900 से 2950 लौंग चालू 550 से 570 बेस्ट 600 से 625 दालचीनी 180 बेस्ट 185 जायफल 450 से 475 बेस्ट 575 जावत्री 1050 बेस्ट 1100 बड़ी इलायची 775 से 825 बेस्ट 925 से 975 पत्थर फूल 325 से 375 बेस्ट 425 बाद्यान फूल 210 से 215 शाहजीरा 300 से 350 ग्रीन 480 से 500 तेजपान 85 से 90 तरबूज मगज 138 से 140 नागकेसर 620 सौंठ 170 से 235 खसखस चालू 250 से 300 बेस्ट 325 से 400 धौली मूसली 1125 से 1150 वनदेवी दाना 751- 2440 पाउच 2060 पीला पावडर 680 सिंदूर 6100 पूजा बादाम 70 से 85 बेस्ट 150 से 160 अरीठा 38 से 45 सिंघाड़ा 90 से 92 बड़ा 95 से 115 मोरधन अल्पाहार 7200 हरी इलायची 1050 से 1125 मीडियम बोल्ड 1175 से 1125 बोल्ड 1275 से 1325 एक्स्ट्रा बोल्ड 1375 से 1500 काजू-240 950 से 960 काजू डब्ल्यू 320- 875 से 885 डब्ल्यू 1- 860 से 865 एस डब्ल्यू 300- 835 से 850 एसएस डब्ल्यू 815 से 825 काजू जेएच 840 से 845 टुकड़ी 780 से 800 बादाम मगज 660 से 665 बेस्ट 675 से 680 टॉच 550 खारक थोक में 5000 से 5500 मीडियम 6500 से 7500 बेस्ट 7500 से 9000 किशमिश कंधारी 275 से 350 बेस्ट 425 से 475 इंडियन 190 से 225 बेस्ट 230 से 240 चारोली 675 से 725 बेस्ट 850 से 900 मुनक्का 250 से 350 बेस्ट 400 से 450 अंजीर 725 से 775 बेस्ट 825 से 900 मखाना 725 से 775 बेस्ट 825 से 860 केसर 115 से 130 मैदा कट्‌टे में 1050 से 1100 रवा कट्‌टे में 1100 से 1150 आटा कट्‌टा 1050 से 1150 बेसन 2650 से 2850 बटाना बेसन 2100 से 2250 पोहा 3600 से 3800 रुपए।

बड़ी तेजी नहीं आ सकीं

आगामी दिनों में मलमास लगने और रमजान शुरू हो जाने की आशा से 1 माह तक खोपरा बूरा में ग्राहकी कमजोर पड़ जाएगी। इस बार बूरा महंगा होने से ग्रामीण क्षेत्रों में भी उपयोग कम होने के साथ मिलावट अधिक होने से भावों में तूफानी तेजी आना थी, वह नहीं आ सकी। हाजर में खोपरा बूरा के भाव में मंदी रही।

X
Click to listen..