• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sagar
  • सिविल अस्पताल घुवारा में नहीं सुविधाएं, मरीजों को नहीं मिलता इलाज
--Advertisement--

सिविल अस्पताल घुवारा में नहीं सुविधाएं, मरीजों को नहीं मिलता इलाज

Sagar News - नगर का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महज शोपीस एवं रैफर सेंटर बन कर रह गया है। यहां मरीजों को न तो स्वास्थ्य सुविधाएं...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 02:20 AM IST
सिविल अस्पताल घुवारा में नहीं सुविधाएं, मरीजों को नहीं मिलता इलाज
नगर का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र महज शोपीस एवं रैफर सेंटर बन कर रह गया है। यहां मरीजों को न तो स्वास्थ्य सुविधाएं मिलती है और न ही कोई मदद। यहां सुविधाएं न होने, डाक्टर एवं स्टाफ न होने के कारण इलाज कराने आए मरीजों को देर किए बिना ही रैफर कर दिया जाता है।

इस अस्पताल से दर्जनों गांव स्वास्थ्य के लिए सीधे जुड़े हैं, लेकिन उन्हें इसका लाभ नहीं मिलता। घुवारा की आबादी 15 हजार से अधिक है और इस अस्पताल से दर्जनों जुडे हैं। यहां न तो डाक्टर हैं और न ही स्टाफ ऐसे में लोग मजबूरन झोलाछाप डाक्टरों से इलाज कराते हैं। आराम न मिलने पर टीकमगढ़ जाने को मजबूर होते हैं। नगर में मैन हाइवे रोड होने के कारण आए दिन सड़क हादसे होते हैं, घायलों को अस्पताल से सीधा जिला चिकित्सालय टीकमगढ़ भेज दिया जाता है, समय पर उपचार न मिलने के कारण रास्ते में ही उनकी मौत हो जाती है।

अस्पताल नगर से 3 किलोमीटर दूर सुनसान में हैं, जहां रात में जाने में लोग डरते हैं। अस्पताल में जनरेटर की सुविधा नहीं है, लाइट चले जाने पर मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पलंग की भी समुचित व्यवस्था नहीं है। अस्पताल के सुपरवाइजर काशीराम अहिरवार बताते हैं कि अभी कुछ दिनों पहले लाइट खराब होने पर जनरेटर व एलईडी कूलर पंखा खराब हो गए थे । धीरे धीरे उनका सुधार करवाया जा रहा है ।

न यहां डाॅक्टर हैं, न स्वास्थ्य स्टाफ, झोलाछाप डाॅक्टरों का सहारा लेने को मजबूर लोग

घुवारा। नगर का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र।

13 नए उप स्वास्थ्य केंद्र स्टाफ

के अभाव में नहीं ं हुए शुरू

सुपर वाइजर अहिरवार ने बताया कि अभी 13 नये उप स्वास्थ केंद्र चालू करवाए गए है लेकिन स्टाफ की कमी होने के कारण वहां स्वास्थ्य सुविधाएं चालू नही हो पाई हैं। अभी कुटोरा, बधा, चंदौली, सरकना, भेल्दा, हलावनी मे 7 एएनएम है और 6 स्वास्थ केंद्र अभी प्रारंभ नहीं हो पाए। जिसके कारण लोगो को बेहतर स्वास्थ सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं । ग्राम पंचायत रामटोरिया मे स्वास्थ केंद्र तैयार है लेकिन वहां स्टाफ न होने से डिलेवरी प्वाइंट बंद है । इस संबंध में बीएमओ डा. धर्मेंद्र मरैया का कहना है कि शासन द्वारा रिक्त पदों पर भर्ती की जा रही है। अस्पताल में किराए से जनरेटर रखने का आदेश हमने दिया है।

X
सिविल अस्पताल घुवारा में नहीं सुविधाएं, मरीजों को नहीं मिलता इलाज
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..