--Advertisement--

भावान्तर निराकृत समिति में अटकी किसानों की शिकायतें

किसान मण्डी सचिव से लेकर मुख्यमंत्री तक लगा चुके हैं गुहार भास्कर संवाददाता|जतारा भावान्तर योजना अंतर्गत...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 02:50 AM IST
किसान मण्डी सचिव से लेकर मुख्यमंत्री तक लगा चुके हैं गुहार

भास्कर संवाददाता|जतारा

भावान्तर योजना अंतर्गत किसानों ने समर्थन मूल्य पर व्यापारियों को उर्द बेचा था, जो 6 माह गुजर जाने के बाद भी उनके खाते में समर्थन मूल्य की राशि नहीं डली हैं।

किसान मण्डी सचिव से लेकर मुख्यमंत्री तक गुहार लगा चुका है, पर आज तक वह भावान्तर योजना का लाभ नहीं मिला सका। ऐसे क्षेत्र अंतर्गत दर्जनों किसान शिकायत कर चुके हैं, पर उनकी शिकायत जिला भावान्तर समिति ने रद्दी टोकरी में डाल दी हैं। जतारा निवासी लल्लू शााह ने बताया कि कृषि उपज मण्डी परिसर में 8 नवम्बर 2017 को उर्द 6 क्वाटिंल, 3 किलो, मण्डी में डाली थी। लेकिन उन्हें भावान्तर योजना का लाभ नहीं मिला। उनकी रसीद का जो कोड नम्बर था वह मण्डी में कार्यरत् एक कर्मचारी द्वारा गलत कोड नम्बर दर्ज कर दिया। जिससे उसे मिलने वाला करीब 14 हजार रुपये के लाभ से वांचित है। मण्डी सचिव को दो बार आवेदन देकर राशि खाते में डालवाने के लिए आवेदन भी दिया है। हमारी तरह दर्जनों किसान मण्डी के चक्कर लगा रहे हैं। मण्डी सचिव भगवान सिंह परिहार का कहना है कि किसानों की शिकायतों के निराकरण के लिए जिला भावान्तर समिति को दो बार प्रतिवेदन भेज चुके हैं। जिला भावान्तर समिति को निराकृत करना है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..