• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • गांव को कुटने डैम से चालू होने वाली जल आवर्धन योजना से जोड़ा जाए
--Advertisement--

गांव को कुटने डैम से चालू होने वाली जल आवर्धन योजना से जोड़ा जाए

चलो पंचायत अभियान कार्यक्रम में शामिल होने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राजनगर तहसील के खजवा गांव में...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 02:35 AM IST
गांव को कुटने डैम से चालू होने वाली जल आवर्धन योजना से जोड़ा जाए
चलो पंचायत अभियान कार्यक्रम में शामिल होने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान राजनगर तहसील के खजवा गांव में आज आ रहे हैं। उनके कार्यक्रम की तैयारियां प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर की जा रही हैं। जल संकट से जूझ रहे खजवा गांव के लोगों ने लामबंद होकर मुख्यमंत्री से कुटने डैम से चालू होने वाली जलावर्धन योजना से जोड़ने की मांग करने की रणनीति बना ली है। सैकड़ों ग्रामीण राजनगर व खजुराहो को सप्लाई होने वाले पानी की ही तरह खजवा को भी कुटने बांध से पानी देने की मांग करेंगे।

राजनगर और खजुराहो नगरीय निकायों को जलापूर्ति के लिए मध्य प्रदेश शासन की स्कीम पर एशियन डेवलपमेंट बैंक द्वारा वित्त पोषित लोन की जल आवर्धन योजना की शुरूआत की गई थी। करीब 69 करोड़ की इस जल आवर्धन योजना से ग्राम खजवा में स्थित कुटने पोषक जलाशय से संयुक्त रूप से राजनगर और खजुराहो के लिए पानी की सप्लाई की जाएगी। जिसके तहत कुटने पोषक जलाशय से निकली हुई नहर के बगल से इंटेक्ट वेल, ट्रीटमेंट प्लांट बनना है। जिससे शुद्ध पानी की सप्लाई राजनगर से होते हुए खजुराहो के लिए बड़ी पाइप लाइन डाली जानी है । साथ ही साथ राजनगर में दो पानी की टंकियां भी बनाई जाएंगी। जिसमे से एक पहाड़ी पर जो 700 के. एल. की ओर दूसरी न्यायालय के सामने 300 के. एल. की टंकी बनाई जानी है। खजुराहो में 4 टंकियां बनाई जाएंगी।

जल आवर्धन योजना में ग्राम खजवा को नहीं जोड़े जाने पर लोगों में आक्रोश पनप रहा है। क्योंकि जिस डेम से पानी की आपूर्ति राजनगर व खजुराहो में की जानी है वह कुटने पोषक जलाशय ग्राम खजवा में स्थित है। गांव की अधिकांश कृषि भूमि कुटने डेम में डूब चुकी है। मात्र कुछ भूमि और बस्ती बची हुई है उक्त बची हुई भूमि और आबादी बस्ती डेम से ऊंची जगह पर बसा हुआ है जिससे कृषि के कुओं ओर बस्ती के कुओं में पीने का पानी मे कुटने के जलाशय का कोई फर्क नहीं पड़ा है । कुओं का पानी लगातार कम हो रहा है।

राजनगर। खजवा गांव में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम की तैयारियों में जुटा प्रशासन।

शोपीस बनी

नलजल योजना

खजवा ग्राम में नल जल योजना के तहत पानी की टंकी बनी हुई है परंतु पानी के लिए बना हुआ कुआं भी गर्मियों में सूख जाता है। गर्मियों में कुएं सूखने से हमेशा ही नल से पानी आना बंद हो जाता है यह ग्राम खजवा की बदनसीबी है कि जिस ग्राम में उक्त कुटने पोषक जलाशय बना हुआ है वही गांव पीने के पानी के लिए परेशान है।

X
गांव को कुटने डैम से चालू होने वाली जल आवर्धन योजना से जोड़ा जाए
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..