सागर

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • पहले ही पहुंच गई सूचना, छापा मारने पहुंचे तहसीलदार बेरंग लौटे
--Advertisement--

पहले ही पहुंच गई सूचना, छापा मारने पहुंचे तहसीलदार बेरंग लौटे

भास्कर संवाददाता | बल्देवगढ़ भोज मुक्त विश्वविद्यालय के परीक्षा केंद्र खरगापुर हायर सेकंडरी स्कूल में मंगलवार...

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 03:20 AM IST
पहले ही पहुंच गई सूचना, छापा मारने पहुंचे तहसीलदार बेरंग लौटे
भास्कर संवाददाता | बल्देवगढ़

भोज मुक्त विश्वविद्यालय के परीक्षा केंद्र खरगापुर हायर सेकंडरी स्कूल में मंगलवार को छापा मारने पहुंचे तहसीलदार को बैरंग खाली हाथ लौटना पड़ा। तहसीलदार के आने की सूचना पहले से लीक हो गई। वे जब पहुंचे, तब तक परीक्षा केंद्र से नकल सामग्री गायब कर दी गई। कलेक्टर का कहना है कि खरगापुर में परीक्षा कब से शुरु हो गई। मुझे किसी ने सूचना तक नहीं दी।

कई कर्मचारी भी पदोन्नति के लिए डिग्री प्राप्त करने भोज से पेपर देते हैं और कई बच्चे अपनी ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए दिन और रात मेहनत करके उतनी परसेंटेज प्राप्त करते हैं। वहीं भोज के पेपरों में सिर्फ 2 घंटे नकल करते ही उतनी परसेंटेज प्राप्त हो जाती है। भोज के पेपर में नकल माफियाओं का दबदबा बना हुआ है कोई भी अधिकारी वहां पर मौके पर पहुंचे, इससे पहले ही उन लोगों को सूचना मिल जाती है। यहां तक की परीक्षा प्रभारी डीएल मार्को और राजेश जैन जो कि गवर्नमेंट टीचर होने के बावजूद भी परीक्षा केंद्रों पर अपना अलग ही दबदबा बनाए हुए हैं। बच्चों से पास करवाने का ठेका लेकर ₹6000 पर छात्र से लेते हैं। मंगलवार को सूचना मिलने पर तहसीलदार खरगापुर मौके पर पहुंचे, उससे पहले ही उन लोगों को सूचना मिल गई। कुछ देर के लिए नकल को रुकवा दिया गया।

परीक्षा केंद्र खरगापुर हायर सेकंडरी स्कूल में निरीक्षण करने पहुंचे अधिकारी।

कलेक्टर बोले- मुझे समाचार पत्र से मिली सूचना

कलेक्टर अभिजीत अग्रवाल का कहना है कि खरगापुर में पेपर चल रहे हैं। मुझे सूचना प्राप्त नहीं हुई, अब समाचार पत्र के माध्यम से जानकारी लगी है। बल्देवगढ़ की एसडीएम वंदना राजपूत को फोन पर सूचना कर दी गई है। एसडीएम का कहना है कि मेरे पास में सूचना आ गई है। परीक्षा केंद्रों पर जाकर निरीक्षण किया जाएगा और गोपनीय तरीके से भी परीक्षा की जानकारी ली जाएगी।

Ãमैं मौके पर पहुंचा, उससे पहले वहां पर जिला पंचायत उपाध्यक्ष दिग्विजय सिंह गौर मौजूद थे और कोई भी नकल प्रकरण हाथ में नहीं लगा। -एसपी परते, तहसीलदार

X
पहले ही पहुंच गई सूचना, छापा मारने पहुंचे तहसीलदार बेरंग लौटे
Click to listen..