Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» कुंडेश्वर में होना था बाल-विवाह, घर पहुंचकर टीम की समझाइश के बाद माने परिजन

कुंडेश्वर में होना था बाल-विवाह, घर पहुंचकर टीम की समझाइश के बाद माने परिजन

शिवधाम कुंडेशवर मंदिर से बाल-विवाह किया जाना था। जिसको लेकर चाईल्ड लाइन की टीम ने इसकी जानकारी जुटाकर परिजनों के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 03:05 AM IST

कुंडेश्वर में होना था बाल-विवाह, घर पहुंचकर टीम की समझाइश के बाद माने परिजन
शिवधाम कुंडेशवर मंदिर से बाल-विवाह किया जाना था। जिसको लेकर चाईल्ड लाइन की टीम ने इसकी जानकारी जुटाकर परिजनों के पास पहुंचकर हाेने वाले बाल-विवाह को रूकवाया। टीम मेंबर जितेंद्र सिंह चंदेल, अजयकांत खरे सुबह 10 बजे से मंदिर पहुंचकर ट्रस्ट के मेनेजर से से इसकी जानकारी जुटाई। जिस पर कुंडेश्वर से 6 विवाह होने थे। इस दौरान एक बाल विवाह भी होना था।

जितेंद्र सिंह चंदेल ने बताया कि जांच में पता चला कि बालिका के रिशतेदार प्रदीप रैकवार के नाम से ट्रस्ट में बुकिंग की गई है जो कुंडेवर हायर सेंकडरी स्कूल में पदस्थ हैं। उसने मुलाकात कर उनो उक्त विवाह के बारे में जानकारी ली। और उन्हें चाईल्ड मैरिज ऐक्ट के बारे में बताया। तब उन्होंने बाल-विवाह न करने का आश्वासन दिया। नए बस स्टैंड के पीछे उक्त बालिका का निवास पाया गया। तब बालिका के घर पहुंचकर बालिका और उसके मात-पिता की काउंसलिग की गई। जिसमें बालिका ने बताया कि उसकी उम्र अभी 17 साल है। और वह 10वीं तक पढ़ी है। टीम के साथ शिवांगी, प्रीति सोनी, प्रभारी महिला बाल विकास अधिकारी सीमा श्रीवास्तव, अखलेश यादव थाना कोतवाली टीआई नवल आर्या के आदेश पर एएसआई राकेश साहू ने बालिका के घर पहुंचकर हो रहे बाल-विवाह को रूकवाया।

टीकमगढ़। परिजनों को समझाइश देती टीम।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×