• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • 20 साल बाद बुंदेलखंड ससंघ आए आचार्य बसुनंदी महाराज की लोगों ने आरती उतारी
--Advertisement--

20 साल बाद बुंदेलखंड ससंघ आए आचार्य बसुनंदी महाराज की लोगों ने आरती उतारी

भास्कर संवाददाता | बल्देवगढ़ दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र अहार जी में रविवार को सुबह आचार्य बसुनन्दी महाराज की 14...

Danik Bhaskar | May 14, 2018, 02:45 AM IST
भास्कर संवाददाता | बल्देवगढ़

दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र अहार जी में रविवार को सुबह आचार्य बसुनन्दी महाराज की 14 पिच्छियों के संघ की श्रृद्धालुओं ने आगवानी की।

सभी ने गाजे बाजे के साथ आगवानी के बाद पाद प्रच्छालन कर आरती उतारी। कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी संजय जैन ने बताया की आचार्य बसुनन्दी महाराज 14 पिच्छी संघ सहित करीब 20 साल के बाद बुंदेलखंड के अहार जी क्षेत्र में आए हैं।

आचार्य बसुनंदी महाराज ने सभी मंदिरों के दर्शन किए। इसके बाद प्रवचन के दौरान उन्होंने कहा कि आप सभी की उत्सुकता हमें पन्ना के ग्राम द्वारि से करीब 150 किलोमीटर दूर यहां खीच लाई। इसलिए बिहार करते हुए अहार क्षेत्र पहुंचे हैं। अहार क्षेत्र में रविवार को 1.30 बजे रिंकू भदौरा व उनके परिवार ने ध्वजारोहण किया। इसके बाद शांति महामण्डल विधान का आयोजन किया गया। 14 मई को सुबह 7 बजे से शांतिनाथ, कुंथनाथ, अरहनाथ भगवान का जन्म, तप, मोक्षकल्याणक व महामस्ताकभिषेक के कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

जिसमें मुख्य कलशकर्ता जम्मू प्रसाद जैन, कलश स्थापनकर्ता राजा कारी टीकमगढ़ होंगे। रात में आरती, भक्ति एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम संपन्न होंगे। कार्यक्रम में संगीतकार के रूप में देवेंद्र जैन एण्ड पार्टी लार संगीत की स्वर लहरी बिखेरेंगे। रविवार को महाराज की आगवानी में क्षेत्र कमेटी के अध्यक्ष महेंद्र जैन बड़ागांव, उत्तमचंद्र मोगना, मनोज, कैलाश, जिनेश कोठिया दिल्ली, हेमन्त जैन प्राचार्य, सुनील जैन, विनय कोठिया, मनोज शास्त्री, ब्रह्मचारी संजय भैया, विजय कोठिया, वीरेंद्र जैन प्रबन्धक, संतोष कोठिया, कस्तूरचन्द्र जैन, वीरचंद्र जैन, अनिल जैन सहित सैंकड़ों श्रद्धालु उपस्थित थे। जैन हाईस्कूल के प्राचार्य हेमन्त जैन ने बताया की 15 मई को सन्तश्री आचार्य विद्यासागर महाराज को जैन छात्रावास के छात्र व जैन सिद्ध क्षेत्र की कमेटी पपौरा जी पहुंच कर अहार क्षेत्र में आमन्त्रित कर पूजन और श्रीफल भेंट करेगी।

बल्देवगढ़। आचार्य बसुनंदी महाराज ससंघ की अगवानी करते श्रद्धालु।

बड़ी देवी मंदिर का होने लगा जीणोद्धार, दान लेने के लिए रोज निकलती है टोली

पृथ्वीपुर|नगर के वार्ड नं. 4 स्थित बडी देवी जी का प्राचीन मंदिर बना हुआ है। जिसका जीर्णोद्धार करने के लिए मां के भक्तों ने बीड़ा उठाया है और नगर के सभी लोगों के सहयोग से इसका निर्माण करने के लिए एक टोली प्रतिदिन चंदा एकत्र कर रही है। बडी देवी के मंदिर पर प्रतिदिन माता के दर्शन और पूजा अर्चना करने जहां लोग पहुंचते है। उससे कहीं ज्यादा महिला श्रद्धालुओं की भीड़ होती है और चैत्र एवं शारदीय नवरात्रि पर्व पर यहां विशाल मेला भी आयोजित किया जाता है। माता की पूजा अर्चना करने नगर सहित समूचे क्षेत्र से लोग यहां पहुंचते हैं। प्राचीन मंदिर होने से अब इस मंदिर की जीर्णोद्धार की जरूरत पड़ने लगी है। मंदिर कमेटी के लोग जीर्णोद्धार के लिए अनूठी पहल कर रहे हैं। जिसमें छोटे युवा बुजुर्ग सभी एक साथ एक साइकिल पर दान पेटी एवं लाउड स्पीकर से भजन बजाते हुए निकलते हैं और प्रतिदिन 2 घंटे पूरे नगर का भ्रमण कर चंदा एकत्र करते हैं। नगर के लोग भी इसमें बढ़-चढ़कर दान दे रहे हैं। मंदिर का निर्माण कार्य भी इसी एकत्र होने वाले चन्दे से शुरू हो गया है जो कार्यरत है। जो लोग दान नहीं दे पाते हैं ऐसे लोग मंदिर पहुंचकर श्रमदान भी कर रहे है।

भास्कर संवाददाता | बल्देवगढ़

दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र अहार जी में रविवार को सुबह आचार्य बसुनन्दी महाराज की 14 पिच्छियों के संघ की श्रृद्धालुओं ने आगवानी की।

सभी ने गाजे बाजे के साथ आगवानी के बाद पाद प्रच्छालन कर आरती उतारी। कार्यक्रम के मीडिया प्रभारी संजय जैन ने बताया की आचार्य बसुनन्दी महाराज 14 पिच्छी संघ सहित करीब 20 साल के बाद बुंदेलखंड के अहार जी क्षेत्र में आए हैं।

आचार्य बसुनंदी महाराज ने सभी मंदिरों के दर्शन किए। इसके बाद प्रवचन के दौरान उन्होंने कहा कि आप सभी की उत्सुकता हमें पन्ना के ग्राम द्वारि से करीब 150 किलोमीटर दूर यहां खीच लाई। इसलिए बिहार करते हुए अहार क्षेत्र पहुंचे हैं। अहार क्षेत्र में रविवार को 1.30 बजे रिंकू भदौरा व उनके परिवार ने ध्वजारोहण किया। इसके बाद शांति महामण्डल विधान का आयोजन किया गया। 14 मई को सुबह 7 बजे से शांतिनाथ, कुंथनाथ, अरहनाथ भगवान का जन्म, तप, मोक्षकल्याणक व महामस्ताकभिषेक के कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

जिसमें मुख्य कलशकर्ता जम्मू प्रसाद जैन, कलश स्थापनकर्ता राजा कारी टीकमगढ़ होंगे। रात में आरती, भक्ति एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम संपन्न होंगे। कार्यक्रम में संगीतकार के रूप में देवेंद्र जैन एण्ड पार्टी लार संगीत की स्वर लहरी बिखेरेंगे। रविवार को महाराज की आगवानी में क्षेत्र कमेटी के अध्यक्ष महेंद्र जैन बड़ागांव, उत्तमचंद्र मोगना, मनोज, कैलाश, जिनेश कोठिया दिल्ली, हेमन्त जैन प्राचार्य, सुनील जैन, विनय कोठिया, मनोज शास्त्री, ब्रह्मचारी संजय भैया, विजय कोठिया, वीरेंद्र जैन प्रबन्धक, संतोष कोठिया, कस्तूरचन्द्र जैन, वीरचंद्र जैन, अनिल जैन सहित सैंकड़ों श्रद्धालु उपस्थित थे। जैन हाईस्कूल के प्राचार्य हेमन्त जैन ने बताया की 15 मई को सन्तश्री आचार्य विद्यासागर महाराज को जैन छात्रावास के छात्र व जैन सिद्ध क्षेत्र की कमेटी पपौरा जी पहुंच कर अहार क्षेत्र में आमन्त्रित कर पूजन और श्रीफल भेंट करेगी।

लोगों से दान लेने के लिए रोज निकलती है टोली।

बल्देवगढ़। अहार जी क्षेत्र में हुए धार्मिक आयोजन।