--Advertisement--

22 हजार किसानों को अभी भी मैसेज आने का इंतजार

जिले में चल रही समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी इस बार नया रिकॉर्ड बना सकती है। पिछले साल जहां 2.18 लाख मीट्रिक टन की...

Dainik Bhaskar

May 10, 2018, 03:55 AM IST
जिले में चल रही समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी इस बार नया रिकॉर्ड बना सकती है। पिछले साल जहां 2.18 लाख मीट्रिक टन की खरीदी हुई थी, इस बार वह आंकड़ा अभी से छू लिया गया है। समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की प्रक्रिया 25 मई तक चलना है। यानी अभी पूरा पखवाड़ा शेष है।

जबकि 126 केंद्रों पर कुल पंजीयन कराने वाले 56 हजार किसानों में से अभी तक 34 हजार किसानों ने ही अपना गेहूं बेचा है। शेष 22 हजार किसानों के लिए अभी भी मैसेज आने और बिक्री करने का इंतजार है। प्रशासन ने इस साल करीब ढाई लाख मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी होने का अनुमान लगाया था। पर जिस संख्या में शेष किसान रह गए हैं, उससे पूरी उम्मीद है कि इस बार की खरीदी का आंकड़ा जिले में नया रिकॉर्ड बनाएगा।

दलहन की 20 हजार किसानों से ही हो सकी खरीदी : पहली बार दलहनी फसलें भी समर्थन मूल्य पर खरीदी जा रही हैं। जिले की 20 मंडियों में 40 खरीदी केंद्र इसके लिए बनाए गए हैं। अभी तक जो स्थिति है उसके अनुसार करीब 12936 किसानों से 21 हजार 688 मीट्रिक टन चना की खरीदी की जा चुकी है। इसके अलावा 6547 किसानों से 6 हजार 896 मीट्रिक टन मसूर एवं 489 किसानों से 327 मीट्रिक टन सरसों की खरीदी की जा चुकी है। दलहनी उपज की खरीदी प्रक्रिया 9 जून तक चलना है। जिले में करीब 84 हजार किसानों ने समर्थन मूल्य पर दलहन की बिक्री के लिए अपना पंजीयन कराया है। इस हिसाब से देखा जाए तो इसकी खरीदी प्रक्रिया की गति धीमी चल रही है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..