Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» योग आधारित शिक्षा शारीरिक व्यक्तित्व का विकास

योग आधारित शिक्षा शारीरिक व्यक्तित्व का विकास

सागर | स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय में क्रीड़ा विभाग के तत्वाधान में राष्ट्रीय संगोष्ठी का योग शिक्षा और...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 10, 2018, 04:00 AM IST

सागर | स्वामी विवेकानंद विश्वविद्यालय में क्रीड़ा विभाग के तत्वाधान में राष्ट्रीय संगोष्ठी का योग शिक्षा और स्वास्थ्य विषय पर आयोजन मुख्य वक्ता विष्णु आर्य के सानिध्य में संपन्न हुआ। दीप प्रज्जवलन के उपरांत स्वागत भाषण श्री उपकुलपति डाॅ. राजेश दुबे द्वारा दिया गया संगोष्ठी का औचित्य क्रीड़ा विभाग के प्रमुख डाॅ. अजय व्यास ने प्रस्तुत किया तथा विभाग की पत्रिका का विमोचन किया गया। श्री विष्णु आर्य ने कहा शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है ब्रम्हचार्य, एकाग्रता, तथा समय का नियोजन, डाॅ. एन के थापक कुलपति जी ने कहा योग केवल व्यायाम नहीं अपितु मन और शरीर की साधना है शरीर साधन है मन की साधना का। अपने अध्यक्षीय उदभोदन में संस्थापक कुलपति डाॅ. अनिल तिवारी ने कहा-जीवन में सर्वाधिक महत्वपूर्ण कार्य है शरीर को स्वस्थ्य रखना जिस शरीर से हम सभी उपलब्धियां प्राप्त करते हैं उसका साधन एकमेव शरीर है, उस पर ध्यान केन्द्रित करना चाहिए अपने कार्य की परिपूर्णता तभी होंगी जब शरीर स्वस्थ्य होगा विद्यार्थी को जीवन में योग करना चाहिए तथा अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आवश्यक है। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के सभी अधिष्ठाता तथा अधिकारी उपस्थित हुए मंच संचालन आशुतोष शर्मा ने किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×