• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • पहले सांसद-मंत्री बोले, बिना सूखे के बुंदेलखंड को राशि दी, फिर सीएम बोले-शिवराज न होते तो यह होता क्या?
--Advertisement--

पहले सांसद-मंत्री बोले, बिना सूखे के बुंदेलखंड को राशि दी, फिर सीएम बोले-शिवराज न होते तो यह होता क्या?

सोमवार को कृषि उपज मंडी में हुआ जिला स्तरीय किसान सम्मेलन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा सरकार के गुणगान...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 04:35 AM IST
सोमवार को कृषि उपज मंडी में हुआ जिला स्तरीय किसान सम्मेलन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा सरकार के गुणगान से गूंजता रहा। पहले पार्टी के विधायक, सांसद और मंत्री ने किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं का बखान करते हुए अपने मुख्यमंत्री की प्रशंसा की बाद में जब शाजापुर से लाइव भाषण का प्रसारण हुआ तो उसमें स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह तक ने अपनी वाहवाही में कसीदे पढ़ दिए। पहले आयोजन के मुख्य अतिथि पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव और अध्यक्षता कर रहे सांसद लक्ष्मीनारायण यादव ने कहा कि इस साल अच्छी उपज होने के बाद भी सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सागर जिला सहित संपूर्ण बुंदेलखंड को सूखाग्रस्त घोषित कर दिया है। ऐसा कोई और सरकार नहीं कर सकती थी। बाद में मुख्यमंत्री तक ने इसी का जिक्र करते हुए कहा कि सोचिए शिवराज न होते तो ऐसा होता क्या? इस दौरान मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के तहत पिछले साल हुई गेहूं खरीदी के एवज में 200 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से जिले के 28 हजार से अधिक किसानों के खातों में 45 करोड़ रुपए से अधिक की राशि ट्रांसफर की गई।

भार्गव ने किया एप का लोकार्पण : मंत्री भार्गव ने कृषि विभाग द्वारा किसानों की मदद के लिए बनाए गए एप का लोकार्पण किया। नरयावली विधायक प्रदीप लारिया, सहकारिता बैंक अध्यक्ष राजेंद्र जारौलिया ने भी संबोधित किया। कमिश्नर आशुतोष अवस्थी, कलेक्टर आलोक कुमार सिंह, जिपं उपाध्यक्ष तृप्ति सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल, शैलेष केशरवानी आदि मौजूद थे।

किसान को राशि का प्रमाण-पत्र देते मंत्री गोपाल भार्गव एवं अन्य अतिथि।

भास्कर संवाददाता | सागर

सोमवार को कृषि उपज मंडी में हुआ जिला स्तरीय किसान सम्मेलन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा सरकार के गुणगान से गूंजता रहा। पहले पार्टी के विधायक, सांसद और मंत्री ने किसानों के हित में चलाई जा रही योजनाओं का बखान करते हुए अपने मुख्यमंत्री की प्रशंसा की बाद में जब शाजापुर से लाइव भाषण का प्रसारण हुआ तो उसमें स्वयं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह तक ने अपनी वाहवाही में कसीदे पढ़ दिए। पहले आयोजन के मुख्य अतिथि पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव और अध्यक्षता कर रहे सांसद लक्ष्मीनारायण यादव ने कहा कि इस साल अच्छी उपज होने के बाद भी सरकार ने किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए सागर जिला सहित संपूर्ण बुंदेलखंड को सूखाग्रस्त घोषित कर दिया है। ऐसा कोई और सरकार नहीं कर सकती थी। बाद में मुख्यमंत्री तक ने इसी का जिक्र करते हुए कहा कि सोचिए शिवराज न होते तो ऐसा होता क्या? इस दौरान मुख्यमंत्री कृषक समृद्धि योजना के तहत पिछले साल हुई गेहूं खरीदी के एवज में 200 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से जिले के 28 हजार से अधिक किसानों के खातों में 45 करोड़ रुपए से अधिक की राशि ट्रांसफर की गई।

भार्गव ने किया एप का लोकार्पण : मंत्री भार्गव ने कृषि विभाग द्वारा किसानों की मदद के लिए बनाए गए एप का लोकार्पण किया। नरयावली विधायक प्रदीप लारिया, सहकारिता बैंक अध्यक्ष राजेंद्र जारौलिया ने भी संबोधित किया। कमिश्नर आशुतोष अवस्थी, कलेक्टर आलोक कुमार सिंह, जिपं उपाध्यक्ष तृप्ति सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रभुदयाल पटेल, शैलेष केशरवानी आदि मौजूद थे।

सांसद की नसीहत, भरोसा टूटा तो कोई इतना नहीं करेगा

सांसद यादव ने कहा कि सोशल मीडिया पर चल रहा है कि किसान नाराज हैं। उन्होंने इशारों ही इशारों में कहा कि छोटी-मोटी दिक्कतें सभी को होती हैं, पर कांटा लगने पर उसे निकालने की जगह पूरे पैर का ऑपरेशन नहीं करा लेना। काम करने के बाद भी सीएम का भरोसा टूटा तो कोई ऐसा नहीं करेगा।

पिछले विवाद का असर, फ्लैक्स से सभी के फोटो गायब : मंडी में हुए पिछले आयोजन के दौरान मंत्री भार्गव का फोटो नहीं होने पर बवाल मचा था। मंत्री की आपत्ति के बाद मंडी सचिव को भी हटा दिया गया। इसका असर यह हुआ कि सोमवार के आयोजन में जो फ्लैक्स लगा उसमें सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री के फोटो थे।

दूसरे दिन अपने बयान से मुकरे मंत्री भार्गव; बोले :

मैं आरक्षण का घोर समर्थक, संविधान में पूरी श्रद्धा

सागर। नरसिंहपुर में ब्राह्मण समाज के कार्यक्रम में दिए बयान पर सोमवार को सागर आए पंचायत मंत्री से जब मीडियाकर्मियों ने सवाल किए तो उन्होंने कहा कि मैं आरक्षण व्यवस्था का घोर समर्थक हूं। संवैधानिक व्यवस्था में पूरी श्रद्धा रखता हूं। उनसे जब पूछा गया कि आपने कहा था कि 40% वाले को 90% वाले के ऊपर चढ़ा दोगे तो देश पिछड़ जाएगा? यह आरक्षण व्यवस्था के खिलाफ बयान नहीं है तो उन्होंने कहा कि मैंने एक बार भी आरक्षण शब्द का इस्तेमाल नहीं किया। आप लोग वीडियो देख सकते हैं।