• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • पेट्रोल पंप पर अब प्रदूषण जांच केंद्र भी अनिवार्य, शहर में सिर्फ एक पर सुविधा
--Advertisement--

पेट्रोल पंप पर अब प्रदूषण जांच केंद्र भी अनिवार्य, शहर में सिर्फ एक पर सुविधा

पेट्रोल पंप संचालकों को अब अपने यहां हवा-पानी के साथ ही प्रदूषण जांच केंद्र संचालित करना भी अनिवार्य होगा। ऐसा...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 04:40 AM IST
पेट्रोल पंप संचालकों को अब अपने यहां हवा-पानी के साथ ही प्रदूषण जांच केंद्र संचालित करना भी अनिवार्य होगा। ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि पेट्रोल पंप पर ही प्रदूषण जांच केंद्र बनाकर वाहनों का प्रदूषण जांचा जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन के पालन में यह व्यवस्था जिले भर में संचालित सभी पेट्रोल पंपों पर की जा रही है। इसके लिए आरटीओ द्वारा सभी को आदेश भी जारी कर दिए गए हैं। परिवहन विभाग ने निर्देश जारी किए हैं कि पेट्रोल पंपों पर यह केंद्र बनाकर उनके यहां पेट्रोल एवं डीजल भरवाने आने वाले वाहनों की जांच शुरू की जाए। पेट्रोल पंप संचालकों को एक माह की मोहलत भी दी गई है। आरटीओ प्रदीप शर्मा ने बताया कि पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण जांच केंद्र बनवाकर 15 मई तक वाहनों की जांच की सुविधा शुरू करानी होगी। जानकारी के मुताबिक शहर एवं उपनगरीय क्षेत्र मकरोनिया में करीब 15 पेट्रोल पंप संचालित हैं। शहर एवं उपनगर के पेट्रोल पंप में अभी एक मात्र भगवानगंज स्थित पंचशील पेट्रोल पंप पर ही प्रदूषण जांच केंद्र की सुविधा है।

Ãआरटीओ शर्मा ने बताया कि पेट्रोल पंपों पर पीयूसी सेंटर शुरू होने के बाद वहां आने वाले वाहनों में यह जांच की जाएगी कि संबंधित वाहन में किस स्तर का प्रदूषण है। वाहन में जिस स्तर का प्रदूषण होगा उसी आधार पर वाहन का छह माह के लिए वैध प्रमाण- पत्र जारी किया जाएगा। इसमें यदि वाहन में ज्यादा स्तर का प्रदूषण पाया जाता है तो संबंधित वाहन को प्रमाण- पत्र ही जारी नहीं किया जाएगा। इसके बाद परिवहन विभाग द्वारा वाहन चेकिंग के दौरान जांच में वह वाहन पकड़ा गया तो चालानी कार्रवाई कर 3 हजार रुपए जुर्माना वसूला जाएगा।