• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • पेट्रोल पंप पर मशीन से छेड़छाड़़ कर ग्राहकों से हर माह ठग रहे थे 6 लाख रु.
--Advertisement--

पेट्रोल पंप पर मशीन से छेड़छाड़़ कर ग्राहकों से हर माह ठग रहे थे 6 लाख रु.

राहतगढ़ में पेट्रोल पंप की मशीन जांचते अधिकारी। कम नाप के साथ-साथ मिलावट का भी संदेह ईओडब्ल्यू इंस्पेक्टर...

Dainik Bhaskar

May 11, 2018, 04:55 AM IST
पेट्रोल पंप पर मशीन से छेड़छाड़़ कर 
 ग्राहकों से हर माह ठग रहे थे 6 लाख रु.
राहतगढ़ में पेट्रोल पंप की मशीन जांचते अधिकारी।

कम नाप के साथ-साथ मिलावट का भी संदेह

ईओडब्ल्यू इंस्पेक्टर स्वर्णसिंह धामी के मुताबिक गोपनीय जांच में पुष्टि के बाद पंप पर विशेषज्ञ टीम के साथ कार्रवाई की। धामी के अनुसार शिकायत में पेट्रोल-डीजल में मिलावट का भी संदेह जताया गया है, इसलिए दोनों के सैम्पल जांच के लिए मुंबई और कोयम्बटूर स्थित लैब में भेजे गए हैं।

सिखाने के नाम पर बुलाया और कार्रवाई कराने ले आए

अधिकारी के अनुसार पेट्रोल पंपों के लिए देशभर में चार कंपनियां फिलिंग मशीन तैयार करती हैं। हम लोगों ने चारों कंपनियों से टेक्निकल एक्सपर्ट को ट्रेनिंग के नाम पर बुलाया और सीधे सागर चलने को कहा। पंप पर जिस स्टाफ ने मशीन अपनी कंपनी की होना बताया। उसी से चेकिंग कराई और गड़बड़ी भी पकड़वा ली।

एक लीटर के बजाए देते थे 970 मिली लीटर

पंपकर्मी ग्राहकों को एक लीटर पर 30 मिली लीटर कम ईंधन दे रहे थे। आकाश पेट्रोल पंप से रोजाना 3500 लीटर पेट्रोल और 5500 लीटर डीजल बिकता है। पंप संचालक गड़बड़ी कर इसमें से रोजाना करीब 100 लीटर पेट्रोल और 165 लीटर डीजल चोरी कर रहे थे। इसकी कीमत करीब 20 हजार रुपए है। दोनों पंप भारत पेट्रोलियम के हैं। आकाश पेट्रोल पंप का लाइसेंस मीना पति सुशील जैन और सौम्या पेट्रोल पंप का लाइसेंस श्वेता पिता विमल जैन के नाम से है।

अगर आपको संदेह है तो बेनामी लेकिन तथ्यात्मक शिकायत कर सकते हैं

धामी के अनुसार कोई भी व्यक्ति इस तरह चोरी, हेराफेरी, गड़बड़ी की शिकायत ईओडब्ल्यू भवन, कटंगा टीवी टॉवर, जबलपुर के पते पर कर सकता है। शिकायतकर्ता चाहे तो अपना नाम गोपनीय रख सकते हैं लेकिन शिकायत तथ्यात्मक होना चाहिए।

X
पेट्रोल पंप पर मशीन से छेड़छाड़़ कर 
 ग्राहकों से हर माह ठग रहे थे 6 लाख रु.
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..