Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» मरना कोई समाधान नहीं क्योंकि इससे समस्या नहीं मरती : आर्यिका आदित्यमति

मरना कोई समाधान नहीं क्योंकि इससे समस्या नहीं मरती : आर्यिका आदित्यमति

हर कोई अपने बच्चों को सफलता के शिखर पर बैठाना चाहता है। जबकि हम यह नहीं देखते कि बच्चे की क्षमता व योग्यता कितनी है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 11, 2018, 04:55 AM IST

  • मरना कोई समाधान नहीं क्योंकि इससे 
समस्या नहीं मरती : आर्यिका आदित्यमति
    +1और स्लाइड देखें
    हर कोई अपने बच्चों को सफलता के शिखर पर बैठाना चाहता है। जबकि हम यह नहीं देखते कि बच्चे की क्षमता व योग्यता कितनी है। ध्यान रखें, आप अपने बच्चों को अपनी चाहत के दबाव से मुक्त रखें। यह विचार आर्यिका आदित्यमति ने गुरूवार को तिलकगंज जैन मंदिर में चल रही धर्मसभा में व्यक्त किए।

    आर्यिका माता ने कहा कि दूसरों के बच्चों की योग्यता व क्षमता की जानकारी के बिना अपने बच्चे के लिए बेहतर परिणाम लाने का दबाव बनाना उसके साथ अन्याय है और यही कारण है कि बच्चे दबाव में आकर ग़लत कदम उठा लेते हैं । वैसे भी ये मई का महीना है। बच्चों के रिज़ल्ट आने वाले हैं। बच्चों से ज़्यादा उनके माता पिता दबाव में हैं। लेकिन दो चार नंबर कम आने पर भी आपको अगली कक्षा में प्रवेश मिलेगा ही।

    मरना किसी समस्या का समाधान नहीं है या आपके मरने से समस्या नहीं मर जाएगी । आर्यिका ने भगवान राम भक्त हनुमान का उदाहरण देते हुए कहा कि श्रृद्धा सच्ची व अटूट होना चाहिए । चंद्रमा की किरणों के सामने निर्मल आचरण का धनी ही सज्जन है । अपने पिता के वचनों का पालन करने के लिए राज पाट छोड़ देना सज्जनता का ही उदाहरण है और राजपाट मिलने के बाद भी भाई के अगाध प्रेम में भरत का उदाहरण हर कोई जानता है। वैसे तो राह चलते भी सज्जन पुरुष की पहचान हो जाती है । दुर्जन व्यक्ति भी संतों के संपर्क में आ जाए तो सज्जन बन जाता है । उन्होंने कहा कि थोड़े से स्वार्थ के कारण लोग जन्म लेने से पहले ही अपनी होनी वाली संतान की हत्या कर देते हैं , ये तो दुर्जनता का क्रूर रूप है , यदि अध्यात्म की बात करें तो ऐसे ही लोगों के परिवारों में आत्महत्या के भाव पैदा होते हैं। धर्म सभा के पूर्व आदिनाथ विधान का आयोजन किया गया । शांति धारा का सौभाग्य नयन नायक महावीर नायक को प्राप्त हुआ। शास्त्र भेंट डॉ. ऋषभ जैन ने भेंट किया। वीरेंद्र मालथौन ने बताया कि आर्यिका संघ के सानिध्य में आचार्य ज्ञानसागर जी महाराज का समाधि दिवस 15 मई को मनाया जाएगा । इस अवसर पर प्रात: सात बजे से चौंसठ ऋद्धि विधान का आयोजन किया जाएगा।

    सागर. आर्यिका आदित्यमति ने तिलकगंज दिगंबर जैन मंदिर में धर्मसभा संबोधित की।

  • मरना कोई समाधान नहीं क्योंकि इससे 
समस्या नहीं मरती : आर्यिका आदित्यमति
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×