• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • विधायक तोड़ने पर येद्दि और राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर के बीच देर रात तक बैठक भी चली।
--Advertisement--

विधायक तोड़ने पर येद्दि और राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर के बीच देर रात तक बैठक भी चली।

चुनाव के दौरान सामने आए 4 बड़े मुद्दे और सीटों पर असर कावेरी - 49 सीटों पर प्रभाव भाजपा कांग्रेस जेडीएस अन्य 11...

Dainik Bhaskar

May 16, 2018, 05:05 AM IST
चुनाव के दौरान सामने आए 4 बड़े मुद्दे और सीटों पर असर

कावेरी -
49 सीटों पर प्रभाव

भाजपा कांग्रेस जेडीएस अन्य

11 11 27 00

भ्रष्टाचार - 39 सीटों पर प्रभाव

भाजपा कांग्रेस जेडीएस अन्य

25 13 00 01

दलित - 61 एससी/एसटी सीटें

भाजपा कांग्रेस जेडीएस अन्य

22 28 11 00

लिंगायत - 69 सीटों पर प्रभाव

भाजपा कांग्रेस जेडीएस अन्य

39 21 09 00


विधायक तोड़ने पर येद्दि और राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर के बीच देर रात तक बैठक भी चली।


1 जनवरी 2016 के..

पेंशनर्स को नकद भुगतान 1 अप्रैल 2018 से किया जाएगा। इसके लिए वित्त विभाग जल्दी ही कैबिनेट में मंजूरी के लिए प्रस्ताव लाएगा, जहां से अनुमति के बाद अलग से आदेश जारी किए जाएंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि पेंशनर्स को बढ़ी हुई पेंशन का लाभ जल्दी ही मिलेगा। इस घोषणा से सरकार पर हर साल 850 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार आएगा। पेंशनर्स थे नाराज, सरकार को आगामी विधानसभा चुनाव में नुकसान की थी आशंका -विधानसभा के बजट सत्र में राज्य सरकार ने 1 जनवरी 2016 के पहले रिटायर हुए पेंशनर्स को को 2.42 के फार्मूले के हिसाब से पेंशन में बढ़ोतरी की घोषणा की थी जिससे उन्हें 10 फीसदी लाभ ही मिलना था। वहीं, सरकार ने सरकारी कर्मचारियों और 1 जनवरी 2016 के बाद रिटायर हुए 48 हजार पेंशनर को सातवें वेतनमान का लाभ 2.57 के फार्मूले के अनुसार दिया था, जिससे उन्हें 14 फीसदी तक फायदा हो रहा था। सरकार के इस दोहरे मापदंड से पेंशनर्स में खासी नाराजगी थी जिसका खमियाजा उसे आगामी विधानसभा चुनाव में होने की आशंका थी। इसे भांपते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वित्त मंत्री जयंत मलैया को सौंपी थी। मलैया ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पेंशनर की इस समस्या का निराकरण किया।

नींद के झोंके में ..

तीनों सागर की एसवीएन प्राइवेट यूनिवर्सिटी के छात्र बताए जा रहे हैं जो देर रात अमरवाड़ा से सागर के लिए कार से रवाना हुए थे। घायल ड्राइवर का नाम सत्यम पिता प्रदीप बताया गया है।

टक्कर इतनी भीषण थी कि स्टुडेंट्स के शरीर के अंग कटकर सड़क पर बिखर गए-यह सभी आई टेन कार नंबर यूपी-32-डीएस-2513 में सवार थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जैसे ही कार टकराई तो रेलिंग की धारदार पत्तियों से इन छात्राें के शरीर के अंग कटकर बाहर फिक गए। हादसे की जानकारी लगने पर 100 डायल सुरखी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। कार के अंदर आर पार घुसी रेलिंग में फंसे तीनों शवों को बाहर निकलवाया गया। कुछ समय बाद उनके परिजन पहुंच गए थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिए।

नींद का झोंका आना बताया जा रहा एक्सीडेंट की वजह-एक्सीडेंट के समय कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं था इसलिए घटना का मूल कारण सामने नहीं आ पाया है। अस्पताल पहुंचने पर डायल 100 के स्टाफ का कहना है कि घायल ड्राइवर ने होश आने पर बताया था कि मुझे नींद का झोंका आया था। मैं गाड़ी को कंट्रोल नहीं कर पाया और वह रैलिंग में जा घुसी।

वाराणसी कैंट में...

इसके नीचे चार कारें, एक ऑटोरिक्शा और एक मिनी बस पूरी तरह से दब गई। हादसे के करीब आधे घंटे बाद राहत-बचाव दल पहुंचा। हादसे के बाद मौके पर आला अधिकारी पहुंचे। पुलिस के साथ एनडीआरएफ की टीम ने राहत कार्य शुरू किया। गिरे हुए पिलर को क्रेन की मदद से हटाया गया।

1 जनवरी 2016 के..

पेंशनर्स को नकद भुगतान 1 अप्रैल 2018 से किया जाएगा। इसके लिए वित्त विभाग जल्दी ही कैबिनेट में मंजूरी के लिए प्रस्ताव लाएगा, जहां से अनुमति के बाद अलग से आदेश जारी किए जाएंगे। उम्मीद जताई जा रही है कि पेंशनर्स को बढ़ी हुई पेंशन का लाभ जल्दी ही मिलेगा। इस घोषणा से सरकार पर हर साल 850 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार आएगा। पेंशनर्स थे नाराज, सरकार को आगामी विधानसभा चुनाव में नुकसान की थी आशंका -विधानसभा के बजट सत्र में राज्य सरकार ने 1 जनवरी 2016 के पहले रिटायर हुए पेंशनर्स को को 2.42 के फार्मूले के हिसाब से पेंशन में बढ़ोतरी की घोषणा की थी जिससे उन्हें 10 फीसदी लाभ ही मिलना था। वहीं, सरकार ने सरकारी कर्मचारियों और 1 जनवरी 2016 के बाद रिटायर हुए 48 हजार पेंशनर को सातवें वेतनमान का लाभ 2.57 के फार्मूले के अनुसार दिया था, जिससे उन्हें 14 फीसदी तक फायदा हो रहा था। सरकार के इस दोहरे मापदंड से पेंशनर्स में खासी नाराजगी थी जिसका खमियाजा उसे आगामी विधानसभा चुनाव में होने की आशंका थी। इसे भांपते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वित्त मंत्री जयंत मलैया को सौंपी थी। मलैया ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पेंशनर की इस समस्या का निराकरण किया।

नींद के झोंके में ..

तीनों सागर की एसवीएन प्राइवेट यूनिवर्सिटी के छात्र बताए जा रहे हैं जो देर रात अमरवाड़ा से सागर के लिए कार से रवाना हुए थे। घायल ड्राइवर का नाम सत्यम पिता प्रदीप बताया गया है।

टक्कर इतनी भीषण थी कि स्टुडेंट्स के शरीर के अंग कटकर सड़क पर बिखर गए-यह सभी आई टेन कार नंबर यूपी-32-डीएस-2513 में सवार थे। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जैसे ही कार टकराई तो रेलिंग की धारदार पत्तियों से इन छात्राें के शरीर के अंग कटकर बाहर फिक गए। हादसे की जानकारी लगने पर 100 डायल सुरखी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। कार के अंदर आर पार घुसी रेलिंग में फंसे तीनों शवों को बाहर निकलवाया गया। कुछ समय बाद उनके परिजन पहुंच गए थे। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिए।

नींद का झोंका आना बताया जा रहा एक्सीडेंट की वजह-एक्सीडेंट के समय कोई प्रत्यक्षदर्शी नहीं था इसलिए घटना का मूल कारण सामने नहीं आ पाया है। अस्पताल पहुंचने पर डायल 100 के स्टाफ का कहना है कि घायल ड्राइवर ने होश आने पर बताया था कि मुझे नींद का झोंका आया था। मैं गाड़ी को कंट्रोल नहीं कर पाया और वह रैलिंग में जा घुसी।

वाराणसी कैंट में...

इसके नीचे चार कारें, एक ऑटोरिक्शा और एक मिनी बस पूरी तरह से दब गई। हादसे के करीब आधे घंटे बाद राहत-बचाव दल पहुंचा। हादसे के बाद मौके पर आला अधिकारी पहुंचे। पुलिस के साथ एनडीआरएफ की टीम ने राहत कार्य शुरू किया। गिरे हुए पिलर को क्रेन की मदद से हटाया गया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..