• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • पीलीकोठी उर्स: सुरीली कव्वालियों से गुलजार होती रही रात
--Advertisement--

पीलीकोठी उर्स: सुरीली कव्वालियों से गुलजार होती रही रात

सागर | मैं रूबरू यार हूं। ऐ पीर के दीवानों। मैं मौला अली का आशिक हूं। यह नाते और शैर मुंबई से आए मशहूर मजहबी कव्वाल...

Danik Bhaskar | May 13, 2018, 05:10 AM IST
सागर | मैं रूबरू यार हूं। ऐ पीर के दीवानों। मैं मौला अली का आशिक हूं। यह नाते और शैर मुंबई से आए मशहूर मजहबी कव्वाल अनवर जानी ने पीलीकोठी वाले बाबा के उर्स में श्रोताओं से खचाखच भरे मैदान में सुनाए। वहीं बनारस की कव्वाल रेहाना चिश्ती ने सरकारें दो अलम पर घर बार लुटा देंगे। मैं गरीब लड़की हूं वो अमीर जादा जैसी नाते सुनाई। कव्वालियों का लुत्फ श्रोताओं ने देर रात तक लिया। उर्स की आखिरी रात अलीगढ़ के कव्वाल गुलाम हबीब पेंटर और कानपुर की कव्वाल शीबा परवीन के बीच मुकाबला होगा। दूर-दूर से आए लोगों ने बाबा की दरगाह में पहुंचकर सलामी दी और फिर कव्वालियों का आनंद लिया। कार्यक्रम में लोगों की भीड़ को देखते हुए पुलिस ने यहां रात 8 बजे से ही वाहनों के प्रवेश पर रोक लगा दी। कव्वालियां शुरू होते ही पूरा परिसर तालियों से गूंज उठा।