Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन

10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन

एमपी बोर्ड के कक्षा-10वीं और 12वीं के परिणाम सोमवार को जारी हो गए। हाई स्कूल में इस बार 69.41 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 05:10 AM IST

  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
    एमपी बोर्ड के कक्षा-10वीं और 12वीं के परिणाम सोमवार को जारी हो गए। हाई स्कूल में इस बार 69.41 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए। जो पिछले साल के मुकाबले 17.96 प्रतिशत ज्यादा है। वहीं हायर सेकंडरी का रिजल्ट 3.67 प्रतिशत सुधरकर इस बार 73.53 प्रतिशत पर पहुंच गया। जिले से 11 विद्यार्थियों ने प्रदेश की मेरिट सूची में जगह बनाई। इनमें से दो दिव्यांग छात्र दिव्यांगों वाली मेरिट में हैं। कक्षा-10वीं की मेरिट में पहले नंबर पर 500 में से एक समान 485 अंक लेकर 8 विद्यार्थी पहले नंबर पर रहे।

    इस बार पास हुए विद्यार्थियों में से हर दूसरा विद्यार्थी प्रथम श्रेणी में पास हुआ। कक्षा-10वीं का रिजल्ट सुधरने का एक प्रमुख कारण बेस्ट ऑफ फाइव और शिक्षा विभाग के प्रयोग रहे। इसी साल से शुरू हुई बेस्ट ऑफ फाइव स्कीम में विद्यार्थी कक्षा-10वीं के कुल 6 में से किसी भी पांच विषयों में पास हुआ तो उसे पास ही माना गया। इस बार शिक्षा विभाग ने अपने स्तर पर रिजल्ट सुधारने के लिए कुछ प्रयोग भी किए। जिसके चलते भी रिजल्ट सुधरा। कमजोर विद्यार्थियों के लिए स्पेशल क्लास लगाई। अद्धवार्षिक और प्री-बोर्ड एग्जाम की फीडिंग पोर्टल पर हुई। इसी के आधार पर हुई जिलों की ग्रेडिंग से विद्यार्थियों की स्थिति पता लगती गई और आवश्यक संसाधन वहां मुहैया कराए गए। बेस्ट ऑफ फाइव को हटा दें तो शेष प्रयोग कक्षा-10वीं और 12वीं दोनों ही कक्षाओं के लिए एक से ही हुए।

    ये 3 प्रयोग हुए थे इस साल

    1. स्कूलों में रेमेडियल क्लासेस लगाईं गईं

    2. तिमाही के रिजल्ट के आधार पर कमजोर बच्चों की पहचान कर शैक्षिक अभ्युत्थान की टीम के विशेषज्ञ शिक्षकों को पढ़ाने भेजा

    3. जिलों की ग्रेडिंग से विद्यार्थियों की स्थिति पता लगती गई और आवश्यक संसाधन वहां मुहैया कराए गए।

    प्रदेश और संभाग दोनों से ज्यादा रहा जिले का प्रतिशत

    मध्यप्रदेश

    कक्षा 10वीं

    66.54%

    कक्षा-12वीं

    68.07%

    ऐसा रहा 10वीं का रिजल्ट

    छात्र छात्राएं कुल

    परीक्षा में शामिल 16567 15849 32414

    पास हुए 10857 11644 22501

    प्रथम श्रेणी 5219 6267 11486

    पास होने का प्रतिशत 65.54 73.46 69.41

    ऐसा रहा 12वीं का रिजल्ट

    छात्र छात्राएं कुल

    परीक्षा में शामिल 12879 12395 25274

    पास हुए 8859 9617 18476

    प्रथम श्रेणी 4127 5109 9236

    पास होने का प्रतिशत 69.24 77.97 73.53

    संभाग

    कक्षा 10वीं

    67.74%

    कक्षा-12वीं

    70.82%

    सागर जिला

    कक्षा 10वीं

    69.41%

    कक्षा-12वीं

    73.53%

    रिजल्ट का ट्रेंड : अलग-अलग दृष्टिकोण से इस तरह समझिए- साइंस, छात्राएं और कस्बे फिर आगे

    79.05%

    के साथ विज्ञान फिर टॉप पर, अन्य संकायों में भी सुधार

    इस बार भी वर्ष 2017 की तरह विज्ञान संकाय के विद्यार्थी आगे रहे। 2017 में इस विषय में 79.23 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे। इस बार भी 79.05 प्रतिशत छात्र पास हुए। पिछले साल जहां कॉमर्स में 75.21 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे। इस बार प्रतिशत बढ़कर 77.40 हो गया। एग्रीकल्चर में पिछले साल के 74.01 के मुकाबले 74.39 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए। वहीं ह्यूमैनिटीज में पिछले साल के 61.05 प्रतिशत के मुकाबले इस बार 69.20 प्रतिशत छात्र पास हुए।

    अनपढ़ मां व ड्राइवर पिता के बेटे ने किया जिले में टॉप, पढ़ाई के साथ खेल, टीवी के लिए समय निकालकर भी ये बने टॉपर

    कक्षा 10वीं में यह रहे जिले में अव्वल

    1st

    1st

    वंदना साहू

    गर्व.हा.से. स्कूल बीना (97%)

    कक्षा 12वीं में यह रहे जिले में अव्वल

    1st

    अंशिका राजपूत सरस्वती शिशु मंदिर जैसीनगर (97%)

    ह्यूमैनिटीज संकाय

    1st

    अभिषेक दांगी

    सरस्वती िशशु मंदिर खुरई (97%)

    1st

    अनिकेश यादव

    शास.हा.से. स्कूल

    जरुआखेड़ा (87%)

    1st

    रितु पटेल सरस्वती शिशु मंदिर जैसीनगर (97%)

    2nd

    नैन्सी खरे

    आदर्श सरस्वत शिशु मंदिर, सागर (96.8%)

    2nd

    मेहसर कसाई एमएलबी स्कल-2 सागर (86.8%)

    09%

    आगे रहीं बेटियां जबकि लिंगानुपात देंखे तो 1 हजार बेटों पर 107 बेटियां कम

    जिले का लिंगानुपात 2011 की जनगणना में प्रति हजार पुरुषों पर 893 महिलाओं का था। इस हिसाब से देखा जाए तो प्रति हजार पर 107 बेटियां कम हैं। इसके बाद भी हाई और हायर सेकंडरी स्कूल दोनों के ही रिजल्ट में छात्राआें ने छात्रों के मुकाबले अधिक बेहतर प्रदर्शन किया है। हाई स्कूल में जहां छात्र 65.54 प्रतिशत पास हुए वहीं छात्राएं 73.46 प्रतिशत पास हुईं। इसी प्रकार 12वीं में छात्रों के 69.24 प्रतिशत के मुकाबले 77.97 प्रतिशत छात्राएं पास हुईं। कक्षा-10वीं में जिले में शामिल 13 विद्यार्थियों में से 8 छात्राएं हैं।

    1st

    अरुण कुर्मी सरस्वती शिशु मंदिर बीना (97%)

    विज्ञान संकाय

    1st

    वैष्णवी पटेल

    सरस्वती हा.से. स्कूल गढ़ाकोटा (97%)

    2nd

    अमृत्य सेन

    सरस्वती शिशु मंदिर सागर (96.8%)

    1st

    भूपेंद्र सिंह राजपूत शा.हा.से. स्कूल

    गढ़ौलाजागीर (94%)

    2nd

    दीपिका राय एक्सीलेंस स्कूल सागर (93.8%)

    1st

    सौम्या भटयारा

    सरस्वती हा.से. स्कूल गढ़ाकोटा (97%)

    2nd

    आंशी साहू एक्सीलेंस स्कूल सागर (96.8%)

    3nd

    सौरभ पाल शास.हा.से. स्कूल

    देवरी (93.6%)

    12वीं : स्कूलों की ग्रेडिंग, कमजोर छात्रों की पहचान से 3.67% आया सुधार

    1st

    सारिका ठाकुर

    सरस्वती हा.से. स्कूल रहली (97%)

    3rd

    नीलम दांगी सरदार पटेल हा.से. स्कूल, बीना (96.6%)

    कॉमर्स संकाय

    1st

    नीतेश पालीवाल एसपी जैन गुरुकुल हा.से. स्कूल, खुरई (92.8%)

    72.72%

    इस बार ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों का दबदबा रहा, जो 11 विद्यार्थी कक्षा-10वीं में प्रदेश की मेरिट में आए हैं, उनमें से 7 ग्रामीण क्षेत्र के हैं। वहीं जिले की मेरिट सूची में कक्षा 10वीं में टॉप-3 में शामिल 13 विद्यार्थियों में से 10 ग्रामीण अंचल के हैं। कक्षा 12वीं में अलग-अलग संकाय के जिन 9 विद्यार्थियों ने मेरिट में जगह बनाई है, उनमें 7 गांवों से हैं।

    पहले स्थान पर एक साथ 8 छात्र, जिले की मैरिट में कुल 22 विद्यार्थी

    इस बार प्रदेश से लेकर जिले तक की मेरिट में विद्यार्थियों में एक-एक नंबर को लेकर काफी जद्दोजहद रही। कक्षा 10वीं की जिले की मेरिट में 8 विद्यार्थी पहले नंबर पर रहे। हाई और हायर सेकंडरी में कुल 22 विद्यार्थी टॉप-3 में रहे।

    प्रदेश की मेरिट में कक्षा-10वीं में ऐसी रही सागर की उपस्थिति : चौथा स्थान-रविकांता लोधी एवं राज सोनी छठवां स्थान - विभोर भट्ट आठवां स्थान - श्रेया जैन नौवां स्थान - संध्या ठाकुर एवं साक्षी पटेल दसवां स्थान - अनीह कार्तिक दुबे, शिवानी दांगी एवं गरिमा रूसिया दिव्यांगों की श्रेणी में - प्रहलाद सिंह एवं भूपेंद्र सिंह

    6070 को सप्लीमेंट्री, डीईओ बोले-15 जून से लगेंगी स्पेशल क्लासेस

    कक्षा-10वीं और 12वीं के रिजल्ट में 6070 विद्यार्थियों के लिए सप्लीमेंट्री आई है। इनमें 2216 कक्षा-12वीं और 3854 कक्षा-10वीं के विद्यार्थी हैं। डीईओ संतोष शर्मा ने बताया कि इन विद्यार्थियों के लिए 15 जून से स्पेशल क्लासेस लगवाई जाएंगी। विद्यार्थी पहले चाहेंगे तो पहले भी यह विशेष क्लासेस शुरू कर दी जाएंगी। इन कक्षाओं में वे विद्यार्थी भी पढ़ सकेंगे जो रूक जाना नहीं योजना के लिए फार्म भर रहे हैं।

    बच्चे ग्रामीण क्षेत्र से मेरिट में, प्रदेश- जिले दाेनों में दबदबा

  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
  • 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
    +8और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
India Result 2018: Check BSEB 10th Result, BSEB 12th Result, RBSE 10th Result, RBSE 12th Result, UK Board 10th Result, UK Board 12th Result, JAC 10th Result, JAC 12th Result, CBSE 10th Result, CBSE 12th Result, Maharashtra Board SSC Result and Maharashtra Board HSC Result Online

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Madhya Pradesh News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 10वीं : बेस्ट ऑफ फाइव पद्धति और कुछ प्रयोगों ने 18% सुधारा रिजल्ट; जिले में हर दूसरा विद्यार्थी फर्स्ट डिवीजन
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×