सागर

  • Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • रोज रीत रही झील, इसी हरे पानी से 25 किमी दूर मेहर गांव में धसान नदी लबालब
--Advertisement--

रोज रीत रही झील, इसी हरे पानी से 25 किमी दूर मेहर गांव में धसान नदी लबालब

सागर | लाखा बंजारा झील की सफाई के लिए उसका पानी मोंगा बधान ओवर फ्लो से निकाला जा रहा है। करीब 20 दिन से पानी आेवर फ्लाे...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 05:20 AM IST
रोज रीत रही झील, इसी हरे पानी से 25 किमी दूर मेहर गांव में धसान नदी लबालब
सागर | लाखा बंजारा झील की सफाई के लिए उसका पानी मोंगा बधान ओवर फ्लो से निकाला जा रहा है। करीब 20 दिन से पानी आेवर फ्लाे से बह रहा है। यही वजह है कि चकराघाट से लेकर बस स्टैंड, संजय ड्राइव चारों तरफ के किनारों पर तलहटी दिखने लगी है। झील भले ही रोज रीत रही हो, लेकिन सागर से करीब 25 किलोमीटर दूर मेंहर में बहने वाली धसान और कड़ान नदी लबालब हो गई। इसका रंग हरा हो गया है। दरअसल सागर झील का पानी मोंगा बंधान और नालों से हाेता हुआ इस नदी में बह रहा है। यही वजह है कि धसान नदी बैशाख माह में ऐसी बह रही है जैसी सावन माह में बहा करती है। तालाब के हरे रंग के पानी ने धसान को भी हरा कर दिया है।

सब्जी व फसल के लिए घातक

लोग इसी पानी से आसपास के खेतों में लगी सब्जियों में सिंचाई तक करने लगे हैं। अनजाने में की जा रही जहरीले पानी की सिंचाई ग्रामीणों के लिए घातक भी हो सकती है। इस संबंध में न तो निगम प्रशासन काे फिक्र है और न ही जिला प्रशासन को।

झील खाली करने दो पंप आए, कहां से निकालेंगे सिल्ट आज होगा तय

सागर | शहर की लाखा बंजारा झील को खाली करने के लिए बंधान पर दो हैवी मड पंप लाए गए हैं।

ये उज्जैन के पंप राजघाट पर पानी लिफ्ट करने के लिए लाए गए थे। 80-80 हार्स पावर के इन दोनों पंप से एक-दो दिन में झील का पानी बाहर निकला जाएगा। दैनिक भास्कर के अभियान आओ संवारे सरोवर-धरोहर से प्रेरित होकर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव, विधायक शैलेंद्र जैन, महापौर अभय दरे और तमाम जनप्रतिनिधियों ने साल 2018 की पूर्व संध्या पर झील में दीप विसर्जित कर इसी साल से की सफाई का संकल्प लिया था।

बंधान के पास नया ट्रांसफार्मर लगाया गया है। इसे इंस्टाल करने के लिए करीब 4 घंटे तक क्षेत्र में बिजली बंद रखी गई। महापौर अभय दरे ने बताया कि गुरुवार को सुबह 8 बजे निगम कमिश्नर अनुराग वर्मा व इंजीनियरों के साथ झील का जायजा लेने जाएंगे। जेसीबी, ट्रैक्टर-ट्रॉली व डंपर के जरिए झील से कैसे और किस जगह से सिल्ट निकाल सकते हैं।

सागर | शहर की लाखा बंजारा झील को खाली करने के लिए बंधान पर दो हैवी मड पंप लाए गए हैं।

ये उज्जैन के पंप राजघाट पर पानी लिफ्ट करने के लिए लाए गए थे। 80-80 हार्स पावर के इन दोनों पंप से एक-दो दिन में झील का पानी बाहर निकला जाएगा। दैनिक भास्कर के अभियान आओ संवारे सरोवर-धरोहर से प्रेरित होकर सांसद लक्ष्मीनारायण यादव, विधायक शैलेंद्र जैन, महापौर अभय दरे और तमाम जनप्रतिनिधियों ने साल 2018 की पूर्व संध्या पर झील में दीप विसर्जित कर इसी साल से की सफाई का संकल्प लिया था।

बंधान के पास नया ट्रांसफार्मर लगाया गया है। इसे इंस्टाल करने के लिए करीब 4 घंटे तक क्षेत्र में बिजली बंद रखी गई। महापौर अभय दरे ने बताया कि गुरुवार को सुबह 8 बजे निगम कमिश्नर अनुराग वर्मा व इंजीनियरों के साथ झील का जायजा लेने जाएंगे। जेसीबी, ट्रैक्टर-ट्रॉली व डंपर के जरिए झील से कैसे और किस जगह से सिल्ट निकाल सकते हैं।

रोज रीत रही झील, इसी हरे पानी से 25 किमी दूर मेहर गांव में धसान नदी लबालब
X
रोज रीत रही झील, इसी हरे पानी से 25 किमी दूर मेहर गांव में धसान नदी लबालब
रोज रीत रही झील, इसी हरे पानी से 25 किमी दूर मेहर गांव में धसान नदी लबालब
Click to listen..