• Hindi News
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • झील पर राजनीति: मेयर बोले- एक दिन नहीं डेढ़ महीने रोज आएं कांग्रेसी श्रमदान करने
--Advertisement--

झील पर राजनीति: मेयर बोले- एक दिन नहीं डेढ़ महीने रोज आएं कांग्रेसी श्रमदान करने

सागर | झील की सफाई का काम शुरू नहीं हुआ, लेकिन इस पर राजनीति होने लगी है। बुधवार को झील की सफाई के लिए श्रमदान करने जा...

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 05:25 AM IST
सागर | झील की सफाई का काम शुरू नहीं हुआ, लेकिन इस पर राजनीति होने लगी है। बुधवार को झील की सफाई के लिए श्रमदान करने जा रहे कांग्रेसियों पर कटाक्ष करते हुए महापौर अभय दरे ने कहा कि केवल फोटो खिंचवाने की एक दिनी नौटंकी भरा कार्यक्रम कर झूठी वाहवाही लूटने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कांग्रेस नेताओं से कहा है कि यदि उनको वास्तव में तालाब की सफाई की चिंता है तो वे डेढ़ माह तक प्रतिदिन हमारे साथ श्रमदान करके तालाब के शुध्दिकरण में योगदान दें। महापौर ने कहा कि वर्षों से झील में सड़ रहा हरा, बदबूदार गंदा पानी मोंगा बंधान से बाहर निकालने की प्रक्रिया चल रही है। इसका उद्देश्य यह है कि बरसात के समय में तालाब में नया ताजा पानी भर जाए। डिसिल्टिंग के लिए विधायक शैलेंद्र जैन के आग्रह पर मुख्यमंत्री ने 2 करोड़ 69 लाख की राशि तालाब की सफाई के लिए जारी की है। विभिन्न कार्यों को कराने की टेंडर प्रक्रिया चल रही है। जनप्रतिनिधियों तथा नगर की सामाजिक, शैक्षणिक व स्वयंसेवी एवं धार्मिक संगठनों के सहयोग से श्रमदान करके वर्षों से जमी हुई मिट्टी को बाहर निकालेंगे।

झील के किनारों ने छोड़ा पानी, क्रूज का संचालन बंद : मोंगा बंधान से झील का पानी छोड़े जाने से किनारे पर जमी गाद व सिल्ट दिखाई देने लगी है। झील का 20 फीसदी पानी खाली हो गया है। इससे क्रूज को गहराई तलाशनी पड़ रही है। क्रूज कभी चकराघाट तो कभी बीचों-बीच दिख रहा है। पानी घटने से इसका संचालन बंद हो गया है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..