• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • सीमा पर तैनात शहर के 14 सौ सैनिकों के लिए अच्छी खबर; चुनाव आयोग भेजेगा ऑनलाइन बैलेट, पत्नी सहित कर सकेंगे मतदान
--Advertisement--

सीमा पर तैनात शहर के 14 सौ सैनिकों के लिए अच्छी खबर; चुनाव आयोग भेजेगा ऑनलाइन बैलेट, पत्नी सहित कर सकेंगे मतदान

सीमा पर तैनात सागर के 1400 सैनिकाें के लिए राहत की खबर है। चुनाव आयोग ने उनके लिए ऑनलाइन बैलेट पेपर भेजकर वोटिंग कराने...

Danik Bhaskar | May 09, 2018, 05:25 AM IST
सीमा पर तैनात सागर के 1400 सैनिकाें के लिए राहत की खबर है। चुनाव आयोग ने उनके लिए ऑनलाइन बैलेट पेपर भेजकर वोटिंग कराने की सुविधा शुरु कर दी है।

इसमें आर्मी और विदेश में भारत सरकार के लिए कार्यरत अधिकारी और कर्मचारी और उनकी प|ी ही ऐसे वोट कर सकेंगे। इसके तहत सेवा मतदाताओं को ऑनलाइन बैलेट भेजा जाएगा। इसे प्रिंट कर वे वोट करेंगे और डाक से संबंधित विधानसभा या लोकसभा के जिला निर्वाचन अधिकारी को भेज देंगे, जिससे उनके वोटों की गिनती समय से की जा सके। अब कर्नाटक, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान सहित आगामी समय में होने वाले सभी चुनावों में यह व्यवस्था लागू रहेगी। इसके लिए आयोग ने ऑनलाइन वोटर सर्विस रजिस्ट्रेशन सिस्टम तैयार किया है। रजिस्ट्रेशन एवं इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमीटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम से सैनिक ऑनलाइन वोट दे सकेंगे। मध्यप्रदेश में अकेले सागर से 1400 से अधिक सैनिक एवं अधिकारी ऐसे हैं जो देश की विभिन्न सीमाओं पर तैनात हैं।

भारतीय सेना के 25 लाख से अधिक सैनिकों को होगा फायदा

भारतीय सेना में 14 लाख 8 हजार 551 जवान सक्रिय हैं। जबकि 11 लाख 55 हजार रिजर्व आर्मी भी है। इसमें थल, वायु और जल सेना के सैनिक और अधिकारियों की संख्या शामिल है। नई व्यवस्था के तहत इन सभी को ऑनलाइन वोटिंग करने का मौका मिल सकेगा।

तो सिर्फ प|ी को ही मिलेगा लाभ : नई व्यवस्था में यह भी प्रावधान किया गया है कि यदि सिर्फ प|ी सेना में पदस्थ है तो सिर्फ उसे ही ऑनलाइन वोटिंग करने की सुविधा मिलेगी। ऐसी स्थिति में पति को ऑनलाइन वोट करने का अधिकार नहीं मिलेगा।

रजिस्टर्ड मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड आएगा, फिर कर सकेंगे वोट

जो सेवा मतदाता हैं, उनके हेडक्वार्टर के द्वारा सिस्टम में संबंधित के नामों का रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा। इसके बाद प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी से जिला निर्वाचन अधिकारी, ईआरओ आदि के पास इसकी सूचना आएगी। प्रत्याशियों के नाम फाइनल होने पर ऑनलाइन वोटिंग के संबंध में सेवा मतदाताओं को सूचना भेज दी जाएगी। बैलेट प्रिंट कराने के पहले रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर उन्हें ओटीपी मिलेगा, फिर वे वोट कर सकेंगे। काउंटिंग में सबसे पहले इन्हीं के वोटों की गिनती होगी।

लंबा समय लगने के कारण बदली प्रक्रिया