--Advertisement--

पति की मौत पर कंपनी से मांगा था मुआवजा, दावा खारिज

करंट से पति और भैंस की मौत होने पर प|ी ने बिजली कंपनी और गांव की ही एक महिला से 5 लाख 82 हजार मुआवजा वसूलने के लिए लगाए गए...

Dainik Bhaskar

May 09, 2018, 05:25 AM IST
करंट से पति और भैंस की मौत होने पर प|ी ने बिजली कंपनी और गांव की ही एक महिला से 5 लाख 82 हजार मुआवजा वसूलने के लिए लगाए गए परिवाद को देवरी के अपर जिला न्यायाधीश रघुवीर प्रसाद ने खारिज कर दिया है। अधिवक्ता राजेंद्र पाठक ने बताया कि केसली के पिपरिया गांव निवासी शिवकुमारी प|ी मुन्नालाल चौबे, बेटे अमित, सुमित तथा बेटी रूपा ने मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र बिजली कंपनी केसली के सहायक यंत्री और गांव की ही सपना पति नंदराम गौड़ के खिलाफ परिवाद पेश किया था।

इसमें कहा गया था कि 11 सितंबर 2011 को सुबह करीब 6.30 बजे उनकी भैंस चरने के लिए गई थी। इस बीच गांव की सपना गौड़ के घर की करंट प्रवाहित सर्विस लाइन जमीन पर पड़ी थी।

भैंस इसकी चपेट में आ गई। उसे बचाने के लिए एक के बाद एक मुन्ना और रूपा पहुंचे। यह भी करंट की चपेट में आ गए। मुन्ना और भैंस की मौत हो गई, रूपा घायल हो गई। पुलिस ने केस दर्ज कर चालान कोर्ट में पेश किया। अधिवक्ता पाठक के तर्क से सहमत होते हुए कोर्ट ने दावा खारिज कर दिया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..