Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» जहां पहले से ही हैं ज्यादा कीमतें, वहां नहीं बढ़ेंगे दाम

जहां पहले से ही हैं ज्यादा कीमतें, वहां नहीं बढ़ेंगे दाम

एक जून को लागू होने वाली कलेक्टर गाइडलाइन के लिए जिला पंजीयक की ओर से कार्रवाई शुरू हो गई है। जिले के ब्लॉकों से उप...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 05:25 AM IST

एक जून को लागू होने वाली कलेक्टर गाइडलाइन के लिए जिला पंजीयक की ओर से कार्रवाई शुरू हो गई है। जिले के ब्लॉकों से उप समितियों की रिपोर्ट आने लगी है। इसके आधार पर जिला मूल्यांकन समिति को 20 मई तक निर्णय लेना है। अधिकारियों की मानें तो शहर के जिन इलाकों में कीमतें ज्यादा हैं, वहां कीमतें नहीं बढ़ेंगी। कुछ ऐसे इलाके जहां पिछले सालों में दाम नहीं बढ़े हैं, उन क्षेत्राें में हुईं रजिस्ट्रियों का वैल्यूएशन निकालकर 100 से 300 रुपए प्रति वर्गमीटर की बढ़ोत्तरी की जा सकती है। जिले में मालथौन और बांदरी के नगर परिषद बनने से यहां की कीमतों में इजाफा होगा।

उल्लेखनीय है कि इस बार 1 अप्रैल से नई गाइडलाइन लागू न करते हुए पुरानी दरों पर रजिस्ट्रियां कराई जा रही हैं। इसके कारण इस वर्ष संपत्तियों की रिकॉर्ड रजिस्ट्रियां हुई हैं। जिला पंजीयक कार्यालय ने भी 95 करोड़ के लक्ष्य को पार कर 99 करोड़ रुपए का राजस्व इन रजिस्ट्रियां से इकट्ठा कर लिया है। अधिकारियों का भी मानना है कि अगर बीते साल के ही दाम इस बार लागू किए जाएंगे, तो आम लोगों को और भी फायदा होगा।

कलेक्टर गाइडलाइन

जिले में बांदरी और मालथौन के नगर परिषद बनने से यहां जमीनों के दाम बढ़ेंगे

तीन इलाकों की कॉलोनियां पहली बार जुड़ेंगी

1 जून से लागू होने वाली नई कलेक्टर गाइडलाइन में कनेरादेव, शास्त्रीवार्ड और बहेरिया समेत दो अन्य इलाकों की नई कॉलोनियों के दाम पहली बार इस गाइडलाइन में शामिल किए जाएंगे। इनकी कीमतों पर भी आम जनता से सुझाव और आपत्तियां बुलाई जाएंगी। इसके आधार पर जिला समिति निर्णय लेगी।

गाइडलाइन नहीं बढ़ने से इन्हें होगा फायदा: सूखा, ओलावृष्टि के चलते कृषि भूमि इस बार महंगी नहीं होगी। नहीं तो ऐसे लोगों को होगा फायदा जिन्होंने दो साल पहले किसानों की जमीन खरीदकर एग्रीकल्चर लैंड से रेसीडेंशियल लैंड में कर ली हो डायवर्ट। इसके चलते शहर के आसपास काटी गई रेसीडेंशियल कॉलोनियां के दाम भी नहीं बढ़ेंगे।

गाइडलाइन तय करने वाली कमेटी यह भी देखेगी : जमीन की बाजार से दूरी, यातायात की सुविधा, सड़क, रेलवे स्टेशन व बस मार्ग से प्रॉपर्टी की निकटता जमीन, मकान आदि से लोक कार्यालय, स्कूल, अस्पताल आदि की दूरी प्रॉपर्टी की व्यावसायिक स्थिति, मास्टर प्लान और टीएंडसीपी में आरक्षित जमीन की जानकारी।

Ãउपसमितियों से प्रस्ताव आना शुरू हो चुके हैं। इस बार गाइडलाइन में जमीनों की कीमतों में अधिक इजाफा नहीं होगा। इसका निर्णय जिला समिति लेगी | यूसुफ खान, उप पंजीयक सागर

इन इलाकों की बढ़ सकती है मामूली कीमतें : तिली गांव, मेनपानी, भोपाल रोड, खुरई रोड मंडी के आसपास, मकरोनिया की अंतिम सीमाएं, जबलपुर रोड, बंडा रोड, कनेरा देव, बायपास से लगे गांव।

इन इलाकों की कीमतें नहीं बढ़ेगी : कटरा बाजार, गुजराती बाजार व तीनबत्ती से मस्जिद, सिविल लाइन, तिली अस्पताल, गोपालगंज, मैन बस स्टैंड रोड, गोपालगंज आदि इलाके।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×