Hindi News »Madhya Pradesh »Sagar» प्रदेश में चुनाव कराने के पहले तहसीलदार और एसडीएम देंगे परीक्षा, पास होने के लिए 70% अंक जरूरी, फेल हुए तो ट्रेनिंग के साथ फिर होगा प्रशिक्षण

प्रदेश में चुनाव कराने के पहले तहसीलदार और एसडीएम देंगे परीक्षा, पास होने के लिए 70% अंक जरूरी, फेल हुए तो ट्रेनिंग के साथ फिर होगा प्रशिक्षण

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में होने जा रहे हैं। इसी से पता चलेगा कि इस बार मतदाताओं को रिझाने में...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 12, 2018, 05:25 AM IST

मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में होने जा रहे हैं। इसी से पता चलेगा कि इस बार मतदाताओं को रिझाने में कौन पास हुआ यानी जीता। राजनेताओं का इम्तिहान तो संभवत: नवंबर-दिसंबर माह में होगा, लेकिन उसके पहले प्रशासनिक अधिकारियों को परीक्षा देना पड़ेगी। वह भी बेहद कठिन। इसमें पास होना भी जरूरी है। पहली बार कराई जा रही इस तरह की परीक्षा में जो 70 फीसदी अंक लाएगा, वही पास माना जाएगा। जो फेल हो जाएंगे उन्हें दोबारा प्रशिक्षण लेकर परीक्षा देना होगी। चुनाव प्रकिया में ईआरओ और एईआरओ बनाए गए एसडीएम एवं तहसीलदार यह परीक्षा 14 मई को देंगे। जो इस दिन नहीं आएंगे या फेल होंगे, उनकी परीक्षा 15 मई को होगी। प्रदेश भर में एक साथ यह परीक्षा होगी। संभाग भर से करीब 75 अधिकारी इसमें शामिल होंगे। वैसे यह परीक्षा पूरे देश में होना है। परीक्षा कराने की जवाबदेही कमिश्नर, संभागीय जिले के कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी को दी गई है।

कमिश्नर, कलेक्टर और उप जिला निर्वाचन अधिकारी पर रहेगी परीक्षा कराने की जिम्मेदारी

वैकल्पिक देना होगा जवाब, प्रश्नों की संख्या तय नहीं

बताया गया है जो पेपर होगा, उसमें प्रश्नों के जवाब वैकल्पिक देना होंगे। अभी यह नहीं बताया गया है कि कुल कितने प्रश्न रहेंगे और कितने नंबर का पेपर होगा। पर यह तय है कि सभी परीक्षार्थियों को पेपर में कम से कम 70 फीसदी अंक लाने ही होंगे। तहसीलदार और एसडीएम की परीक्षा बिलकुल वैसी ही होगी, जैसी स्कूल-कॉलेजों में होती है। पेपर सुबह 11 बजे से शुरू होगा।

दिल्ली में हुई थी ट्रेनिंग, वही पैटर्न रहा तो ऐसा हो सकता है पेपर

19 से 21 अप्रैल तक दिल्ली में कर्नाटक को छोड़कर देश भर के संभागीय जिलों के उप जिला निर्वाचन अधिकारी, मास्टर ट्रेनर, आईटी स्पेशलिस्ट के अलावा सीईओ ऑफिस के अफसरों सहित कुल 325 लोगों की ट्रेनिंग हुई थी। इसी में अंतिम दिन 40 प्रश्नों और 90 नंबर का पेपर हुआ था। इसमें 30 प्रश्न हल करना अनिवार्य था। इसी में 70 फीसदी अंक हासिल करने वाले 305 लोगों को पास घोषित किया गया था। पेपर में संविधान की धाराएं, मतदाता सूची तैयार करने, नाम जोड़ने, घटाने आदि की प्रक्रिया, लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1960-61, रजिस्ट्रेशन अधिनियम आदि से जुड़े सवाल पूछे गए थे। इसी के आधार पर प्रदेश में ट्रेनिंग भी दी गई है। यदि यही पैटर्न रहा तो पेपर भी इसी तर्ज पर आ सकता है।

दिल्ली से आएगा पेपर, संभागीय मुख्यालय पर सबकी परीक्षा

निर्वाचन आयोग द्वारा जो पेपर तैयार कराया गया है, वह 14 मई के दिन ही ऑनलाइन भेजा जाएगा। यहां प्रिंट आउट निकालकर सभी को दे दिया जाएगा। पूरे प्रदेश में संभागीय मुख्यालय पर सभी ईआरओ एवं एईआरओ की परीक्षा कराई जाएंगी। - प्रभा श्रीवास्तव, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, सागर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×