सागर

--Advertisement--

पीएचई ने कराया बोर, पानी की जगह निकली आग की लपटें

पीएचई के एक सरकारी बोर से पानी तो नहीं निकला लेकिन अगले दिन आग की लपटें जरुर निकलीं। घटनाक्रम ढाना के पास जैतपुर...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 05:30 AM IST
पीएचई ने कराया बोर, पानी की जगह निकली आग की लपटें
पीएचई के एक सरकारी बोर से पानी तो नहीं निकला लेकिन अगले दिन आग की लपटें जरुर निकलीं। घटनाक्रम ढाना के पास जैतपुर गांव का है। शनिवार को गांव की सरकारी जमीन पर पानी के लिए एक बोर किया गया था। 400 फीट तक ड्रिल करने के बावजूद पानी नहीं निकला। इसके बाद पीएचई की टीम लौट आई लेकिन रविवार को इसी सूखे बोर से करीब 10 फीट ऊंची अाग की लपटें निकलने लगीं। गांव के लोगों को जैसे ही यह जानकारी मिली तो उन्होंने तत्काल पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री गोपाल भार्गव को खबर दी। इसके बाद मौके पर पहुंचे पीएचई, राजस्व के अधिकारियों ने नगर निगम की फायर ब्रिगेड की मदद से आग को शांत कराया।

मीथेन गैस होने की संभावना जताई : एसडीएम एलके खरे ने बताया कि बोर से जैसे लपटें निकलने की खबर मिली तो इंडियन ऑयल एंड पेट्रोलियम कार्पोरेशन के अधिकारियों को सूचना दी। वहां से आए एक्सपर्ट़्स ने बोर से निकलने वाली गैस की पहचान मीथेन के रूप में की। हालांकि वह ये नहीं बता पाए कि बोर के नीचे इस प्राकृतिक गैस का कितना बड़ा पॉकेट है। इधर इन लपटों को लेकर नगर निगम के फायर लॉरीमैन प्रमोद रजक का कहना था कि आग इतनी प्रचंड थी कि इसे स्थानीय संसाधनों से बुझाना नामुमकिन था। करीब 40 मिनट तक बोर पर लगातार पानी की तेज बौछार मारना पड़ी, तब कहीं आग शांत हुई। एसडीएम खरे के अनुसार आग शांत होने के बाद उसे मिट़्टी से ढक दिया गया है। इस संबंध में वरिष्ठ अधिकारियों को प्रतिवेदन देकर जमीन की भूगर्भीय जांच कराई जा सकती है।

X
पीएचई ने कराया बोर, पानी की जगह निकली आग की लपटें
Click to listen..