गाैर विवि से जुड़े बीएड काॅलेजाें के 2 हजार एडमिशन निरस्त, फीस लाैटाने के निर्देश

Sagar News - डाॅ. हरीसिंह गाैर विश्वविद्यालय से संबद्ध काॅलेजाें में सत्र 2019-20 में बीएड पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने वाले...

Bhaskar News Network

Aug 22, 2019, 07:35 PM IST
Sagar News - mp news 2 thousand admissions of bed colleges connected with non universities canceled instructions for refund of fees
डाॅ. हरीसिंह गाैर विश्वविद्यालय से संबद्ध काॅलेजाें में सत्र 2019-20 में बीएड पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के प्रवेश निरस्त कर दिए गए हैं। प्रभारी कुलसचिव ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। जानकारी के मुताबिक सागर विवि से संबद्ध काॅलेजाें में करीब 2 हजार विद्यार्थियांे ने वर्तमान सत्र में प्रवेश लिया था। विश्वविद्यालय प्रशासन ने सभी काॅलेज संचालकों काे निर्देश दिए हैं कि जिन विद्यार्थियों के प्रवेश निरस्त किए गए हैं, उन सभी की फीस वापस लाैटा दें।

आदेश में कहा गया है कि मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में लंबित याचिका में काेर्ट ने कहा है कि विश्वविद्यालय अस्थाई संबद्धता प्राप्त अशासकीय महाविद्यालयों में केंद्रीयकृत काउंसिलिंग के अनुसार ही प्रवेश प्रक्रिया संपन्न करा सकता है। जाे कि उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन के द्वारा ही आयोजित की जा सकती है। इस संबंध में सक्षम प्राधिकारी के आदेशानुसार विश्वविद्यालय की संशोधित अधिसूचना 26 अप्रैल 2019 के तहत विश्वविद्यालय से अस्थाई संबद्धता प्राप्त प्राइवेट काॅलेजाें में सत्र 2019-20 के लिए बीएड पाठ्यक्रम के लिए किए गए विद्यार्थियों के प्रवेश निरस्त कर दिए गए हैं।

अब उच्च शिक्षा विभाग के जिम्मे विद्यार्थियों का भविष्य : मामले में बताया गया है कि विश्वविद्यालय ने 20 अगस्त काे आयुक्त उच्च शिक्षा मध्यप्रदेश शासन काे पत्र भेजकर अस्थाई संबद्धता प्राप्त काॅलेजाें में सत्र 2019-20 से बीएड पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रक्रिया पूरी कराने का अनुरोध किया है। एेसे में सभी प्राइवेट काॅलेज संचालकों काे सूचित किया गया है कि वे उच्च शिक्षा विभाग कारे उक्त प्रवेश प्रक्रिया आयोजित करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के लिए अावेदन करें।

भास्कर संवाददाता | सागर

डाॅ. हरीसिंह गाैर विश्वविद्यालय से संबद्ध काॅलेजाें में सत्र 2019-20 में बीएड पाठ्यक्रम में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के प्रवेश निरस्त कर दिए गए हैं। प्रभारी कुलसचिव ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। जानकारी के मुताबिक सागर विवि से संबद्ध काॅलेजाें में करीब 2 हजार विद्यार्थियांे ने वर्तमान सत्र में प्रवेश लिया था। विश्वविद्यालय प्रशासन ने सभी काॅलेज संचालकों काे निर्देश दिए हैं कि जिन विद्यार्थियों के प्रवेश निरस्त किए गए हैं, उन सभी की फीस वापस लाैटा दें।

आदेश में कहा गया है कि मध्यप्रदेश हाईकोर्ट में लंबित याचिका में काेर्ट ने कहा है कि विश्वविद्यालय अस्थाई संबद्धता प्राप्त अशासकीय महाविद्यालयों में केंद्रीयकृत काउंसिलिंग के अनुसार ही प्रवेश प्रक्रिया संपन्न करा सकता है। जाे कि उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन के द्वारा ही आयोजित की जा सकती है। इस संबंध में सक्षम प्राधिकारी के आदेशानुसार विश्वविद्यालय की संशोधित अधिसूचना 26 अप्रैल 2019 के तहत विश्वविद्यालय से अस्थाई संबद्धता प्राप्त प्राइवेट काॅलेजाें में सत्र 2019-20 के लिए बीएड पाठ्यक्रम के लिए किए गए विद्यार्थियों के प्रवेश निरस्त कर दिए गए हैं।

अब उच्च शिक्षा विभाग के जिम्मे विद्यार्थियों का भविष्य : मामले में बताया गया है कि विश्वविद्यालय ने 20 अगस्त काे आयुक्त उच्च शिक्षा मध्यप्रदेश शासन काे पत्र भेजकर अस्थाई संबद्धता प्राप्त काॅलेजाें में सत्र 2019-20 से बीएड पाठ्यक्रम में प्रवेश प्रक्रिया पूरी कराने का अनुरोध किया है। एेसे में सभी प्राइवेट काॅलेज संचालकों काे सूचित किया गया है कि वे उच्च शिक्षा विभाग कारे उक्त प्रवेश प्रक्रिया आयोजित करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के लिए अावेदन करें।

बीए, बीएससी अंतिम सेमेस्टर का रिजल्ट घाेषित 4 हजार विद्यार्थी पीजी में दाखिले के लिए हुए पात्र

सागर | डाॅ. हरीसिंह गाैर विश्वविद्यालय ने विश्वविद्यालय से संबद्ध काॅलेजाें की 5 कक्षाअाें के रिजल्ट जारी कर दिए हैं। इनमें बीए अाैर बीएससी अंतिम सेमेस्टर के रिजल्ट भी शामिल हैं।

एेसे में समय से रिजल्ट खुलने की स्थिति में ये विद्यार्थी स्नातकोत्तर में दाखिला लेने के लिए अब पात्र हाे गए हैं। वर्तमान में जिले के सरकारी काॅलेजाें में सीएलसी की प्रक्रिया चल रही है। स्नातकोत्तर की सीट आवंटन सूची गुरूवार काे ही अाना है। इसके चलते जाे विद्यार्थी पीजी में दाखिले के लिए इस प्रक्रिया में पंजीयन अाैर सत्यापन करा चुके हैं, अब वे दाखिला ले सकेंगे। इन दाेनाें ही कक्षाओं में करीब 4 हजार विद्यार्थी परीक्षा में शामिल हुए थे। उपकुलसचिव परीक्षा डाॅ. सुरेंद्र पी गादेवार ने बताया कि इन रिजल्ट में वे विद्यार्थी भी शामिल हैं, जिन्होंने पूर्व या एटीकेटी के विद्यार्थी के रूप में परीक्षा दी थी। एेसे में अब ये विद्यार्थी एडमिशन के लिए पात्र हाे गए हैं।

गौरतलब है कि पिछले दिनाें ही अग्रणी काॅलेज में विद्यार्थियों ने प्रदर्शन करते हुए ज्ञापन दिया था। इसमें चेतावनी दी गई थी कि दाे दिन के भीतर रिजल्ट नहीं खाेला गया ताे विद्यार्थी न सिर्फ एडमिशन से वंचित हाे जाएंगे, बल्कि इसके लिए जिम्मेदारों के खिलाफ अांदाेलन भी करेंगे। इसी के बाद यह रिजल्ट अानन-फानन में खाेले गए हैं।

X
Sagar News - mp news 2 thousand admissions of bed colleges connected with non universities canceled instructions for refund of fees
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना