• Hindi News
  • Mp
  • Sagar
  • Sagar News mp news all the characters including jhanderahana soudharma indra who were elected in the siddhachakra mahamandal legislative assembly were also elected

सिद्धचक्र महामंडल विधान में हुअा ध्वजाराेहण, सौधर्म इंद्र सहित सभी पात्र भी चुने गए

Sagar News - शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर उदासीन आश्रम में 8 दिवसीय सिद्धचक्र महामंडल विधान में बुधवार की सुबह श्रीजी का अभिषेक,...

Jan 16, 2020, 09:10 AM IST
Sagar News - mp news all the characters including jhanderahana soudharma indra who were elected in the siddhachakra mahamandal legislative assembly were also elected
शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर उदासीन आश्रम में 8 दिवसीय सिद्धचक्र महामंडल विधान में बुधवार की सुबह श्रीजी का अभिषेक, शांतिधारा, मंडप शुद्धि, सरलीकरण की क्रियाएं हुईं। इसके बाद ध्वजारोहण विधान पुण्यार्जक परिवार ऋषभ कुमार ,मनोज कुमार, प्रियेश जैन, सुशीला बाई, मीना, महेश बिलहरा, देवेंद्र जैना, ऋषभ बांदरी, प्रमोद वारदाना, टोनी केसली, राजेश, सुदीप जैन, राजकुमार प्रदीप जैन पड़ा द्वारा किया गया। ब्रह्मचारी भैया संजीव एवं भैया अरुण के निर्देशन में ध्वजारोहण कर सिद्धचक्र महामंडल विधान की विधिवत शुरुआत की गई। जैन आगम के अनुसार राजकुमारी मैना सुंदरी ने अपने पति श्रीपाल का कुष्ट रोग मिटाने के लिए सिद्धचक्र विधान में अनंतानंद सिद्घ परमेष्टि भगवान की आराधना के द्वारा रोग एवं व्याधि को दूर करके कामदेव के समान सुंदर शरीर को प्राप्त किया था। आज यह विधान बगैर किसी कामना के विश्व कल्याण एवं विश्व शांति के लिए किया जा रहा है। मुख्य पात्रों में सौधर्म इंद्र सीए प्रियेश जैन, शचि इंद्राणी स्वाति, महायज्ञनायक ऋषभ पूर्णिमा, रमेशचंद गुना, यज्ञनायक सुशीला, मीना, कुबेर-मनोज लालो मनीषा, चक्रवर्ती-राकेश मनोज बीना, बाहुबली-राजेश मिली, श्रीपाल मैना सुंदरी-आदित्य प्रियंका जबलपुर, ईशान इंद्र-दिनेश बैसाखिया, ब्रह्म इंद्र-डॉ. विशाल, उपेंद्र-अशोक जूना आदि पात्रों का चयन किया गया है। शाम को महाआरती विधानकर्ता परिवार निवास से मंदिर लाई गई। इसके बाद भैयाजी के सिद्ध चक्र विधान के संदर्भ में प्रवचन हुए।

भास्कर संवाददाता | सागर

शांतिनाथ दिगंबर जैन मंदिर उदासीन आश्रम में 8 दिवसीय सिद्धचक्र महामंडल विधान में बुधवार की सुबह श्रीजी का अभिषेक, शांतिधारा, मंडप शुद्धि, सरलीकरण की क्रियाएं हुईं। इसके बाद ध्वजारोहण विधान पुण्यार्जक परिवार ऋषभ कुमार ,मनोज कुमार, प्रियेश जैन, सुशीला बाई, मीना, महेश बिलहरा, देवेंद्र जैना, ऋषभ बांदरी, प्रमोद वारदाना, टोनी केसली, राजेश, सुदीप जैन, राजकुमार प्रदीप जैन पड़ा द्वारा किया गया। ब्रह्मचारी भैया संजीव एवं भैया अरुण के निर्देशन में ध्वजारोहण कर सिद्धचक्र महामंडल विधान की विधिवत शुरुआत की गई। जैन आगम के अनुसार राजकुमारी मैना सुंदरी ने अपने पति श्रीपाल का कुष्ट रोग मिटाने के लिए सिद्धचक्र विधान में अनंतानंद सिद्घ परमेष्टि भगवान की आराधना के द्वारा रोग एवं व्याधि को दूर करके कामदेव के समान सुंदर शरीर को प्राप्त किया था। आज यह विधान बगैर किसी कामना के विश्व कल्याण एवं विश्व शांति के लिए किया जा रहा है। मुख्य पात्रों में सौधर्म इंद्र सीए प्रियेश जैन, शचि इंद्राणी स्वाति, महायज्ञनायक ऋषभ पूर्णिमा, रमेशचंद गुना, यज्ञनायक सुशीला, मीना, कुबेर-मनोज लालो मनीषा, चक्रवर्ती-राकेश मनोज बीना, बाहुबली-राजेश मिली, श्रीपाल मैना सुंदरी-आदित्य प्रियंका जबलपुर, ईशान इंद्र-दिनेश बैसाखिया, ब्रह्म इंद्र-डॉ. विशाल, उपेंद्र-अशोक जूना आदि पात्रों का चयन किया गया है। शाम को महाआरती विधानकर्ता परिवार निवास से मंदिर लाई गई। इसके बाद भैयाजी के सिद्ध चक्र विधान के संदर्भ में प्रवचन हुए।

X
Sagar News - mp news all the characters including jhanderahana soudharma indra who were elected in the siddhachakra mahamandal legislative assembly were also elected
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना