मुहिम या मेहरबानी! तोड़ा कम, छोड़ा ज्यादा

Sagar News - Á अभी जो मुहिम चलाई जा रही है, वह केवल अतिक्रमण तक ही सीमित हैं, इसमें माफिया कौन हैं? - यहां कोई माफिया नहीं है। फिर...

Jan 20, 2020, 09:01 AM IST
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Á अभी जो मुहिम चलाई जा रही है, वह केवल अतिक्रमण तक ही सीमित हैं, इसमें माफिया कौन हैं?

- यहां कोई माफिया नहीं है। फिर भी जो संगठित माफिया की श्रेणी जैसे अवैध शराब बेच रहे हैं। उन पर कार्रवाई की गई है।

Á तो फिर इस कार्रवाई को माफिया मुक्त कैसे कहेंगे। यह तो वहीं कार्रवाई हैं जो वर्षों पहले ही कर लेनी थी।

- नगर निगम समय-समय पर कार्रवाई करता है। पहले भी कार्रवाई होती रही हैं।

Á अगर ग्रीनवैली का ही निर्माण देख लें वहां तो नक्शे के विपरीत निर्माण किया गया है। बिल्डिंग भी दायरे में थी, लेकिन तोड़ा नहीं गया?

- उस पर कार्रवाई की गई। माप भी कराया गया है। अगर ऐसा है फिर से अवलोकन कर लेंगे कि बिल्डिंग दायरे में आ रही होगी तो वहां भी कार्रवाई करेंगे।

Á शहर में और भी कई अतिक्रमण हैं। बड़े-बड़े दिग्गज अतिक्रमण किए हुए हैं नालों की ही बात की जाए उन पर कार्रवाई अभी तक नहीं हुई?

उन पर भी कार्रवाई जल्द होगी। इसकी सूची तैयार कर ली गई है।

असल माफिया से जेसीबी के पंजे दूर
भास्कर संवाददाता | सागर

शहर में माफिया विरोधी मुहिम के नाम पर थोड़ा रुक-रुककर चल रही जेसीबी असल माफिया से दूरी बनाए हुए है। जो कार्रवाई हो रही है, वह भी बेहद नरमदिल नजर आ रही है। अब तक अगर संजू घोषी के ढाबे पर कार्रवाई को छोड़ दिया जाए तो बाकी सब कार्रवाई पर सवाल हैं। मिर्ची सेठ की दुकानों और ग्रीन वैली मैरिज गार्डन पर हाल में हुई कार्रवाई तो साफ-साफ मेहरबानी की कहानी कह रही है। डॉ.जैन के निर्माणाधीन अस्पताल का मामला भी इससे जुदा नहीं है। निगमायुक्त इन सबके बीच हमेशा की तरह रटा-रटाया जवाब दे रहे हैं - दिखवा लेते हैं।

अभी हाल में ही प्रताप सिंधी उर्फ मिर्ची सेठ व तिली मेन रोड पर स्थित ग्रीनवैली मैरिज गार्डन (राजेश चौधरी चिरौंजी की मिठाई वाले) पर अवैध निर्माणों पर कार्रवाई की गई। यह दोनों अतिक्रमण अफसरों की शह पर ही हुए हैं और अब उन्हें रियायत देने की तैयारी भी कर ली गई है। ग्रीनवैली मैरिज गार्डन के दस्तावेजों और मौके पर हुए निर्माण को देखकर ही यह स्पष्ट है, कहां कितना निर्माण ज्यादा है। फिर भी दो बार यहां पहुंचने और माप करने के बाद भी अफसर आंखें मूंदे बैठे हुए हैं। इन दोनों अतिक्रमणों में बड़ी सांठ-गांठ की बात भी सामने आ रही हैं।

ग्रीनवैली मैरिज गार्डन : बिल्डिंग का स्वीकृत नक्शा ही बता रहा अतिक्रमण की कहानी

नाले से 9 मीटर छोड़ी जानी थी जगह जिस पर निर्माण हो चुका है

प्रताप सिंधी की दुकानों ने खोले सांठ-गांठ के राज

नया बाजार में प्रताप सिंधी की पांच दुकानों को टूटने के बाद उनमें हुए सांठ-गांठ के राज भी खुल गए हैं। दरअसल, इन दुकानों को निर्माण के लिए अनुमति से लेकर उनके निर्माण होने तक भाजपा के नेताओं की दखल रही। जबकि निगम किराएदारी की यह दुकानों तैयार कर ली गई और किराएदार ने अपने नए किराएदार रख लिए।

ओपन स्पेस भी घेरा

अफसरों को यह दिखा, लेकिन कार्रवाई कुछ नहीं

सीधी बात
अतिक्रमण मिला तो कार्रवाई जरूर होगी

Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
X
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more
Sagar News - mp news campaign or kindness broke less left more

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना