• Hindi News
  • Rajya
  • Madhya Pradesh
  • Sagar
  • Sagar News mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere

दावा : सभी स्कूलों में शौचालय हकीकत : जिले के 2921 में से सिर्फ 559 स्कूलों में यह सुविधा; कहीं जर्जर, कहीं पड़े हैं ताले

Sagar News - जिले के सरकारी स्कूलों में स्वच्छता व्यवस्था बेपटरी है। सर्वशिक्षा और राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के...

Nov 22, 2019, 09:16 AM IST
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
जिले के सरकारी स्कूलों में स्वच्छता व्यवस्था बेपटरी है। सर्वशिक्षा और राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के संचालन के बाद भी जिले के सरकारी स्कूलों में अब तक शौचालयों की व्यवस्था नहीं हो पाई है। अधोसंरचना विकास से जुड़े जिला शिक्षा केंद्र के अफसर तो सभी सरकारी स्कूलों में शौचालयों की उपलब्धता का दावा कर रहे हैं, लेकिन यह नहीं बता पा रहे हैं कि जिले के सरकारी स्कूलाें में कितने शौचालय है। राज्य शिक्षा केंद्र को सिर्फ 559 शौचालयों की जानकारी भेजी गई है। इसके बाद केंद्र ने जिले में बालक-बालिका शौचालय और पानी की उपलब्धता पर भारी गैप देखते हुए समीक्षा शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार जिले में कुल 3244 सरकारी स्कूल हैं। इनमें 323 हाई-हायर सेकंडरी तथा कुल 2921 प्राथमिक और माध्यमिक स्कूल हैं। 323 हाई-हायर सेकंडरी स्कूलों में तो मूलभूत सुविधाओं की स्थिति संतोषजनक है। लेकिन भोपाल भेजी गई प्राइमरी और माध्यमिक स्कूलों की रिपोर्ट को आधार माना जाए तो इन 2921 स्कूलों में से महज 559 से कम स्कूलों में ही शौचालय हैं।

साथ ही सिर्फ 1529 स्कूलों में पानी की व्यवस्था है। इन शौचालयों में 329 बालक और 230 बालिका शौचालय शामिल हैं। जाहिर है बाकी के सरकारी स्कूलों में बालक-बालिकाएं खुले में शौच करने के लिए विवश हैं। क्योंकि इन स्कूलों के शौचालय देखरेख और रखरखाव के अभाव में जर्जर हो चुके हैं। साथ ही जहां इनका अस्तित्व बचा है वहां इनमें ताला पड़ा है या दूसरे उपयोग में लिया जा रहा है। जिले के यह हाल तब हैं जब शासन राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत स्कूलाें में अधोसंरचना विकास पर करोड़ों रुपए खर्च कर रहा है। बालक-बालिका शौचालय और पानी की उपलब्धता में आए इस भारी भरकम गैप के कारण जिले के स्कूलों को प्रदेश स्तर से राज्य शिक्षा केंद्र के अपर संचालक द्वारा समीक्षा की जा रही है।


अापकी सुबह खराब न हो इसलिए टॉयलेट सीट पर काला घेरा किया गया है।

अफसरों को पता ही नहीं कितने शौचालय चालू हालत में हैं

जिला शिक्षा केंद्र के एपीसी राजकुमार असाटी से लेकर प्रोग्रामर कमलेश चढ़ार तक सभी यह दावा तो कर रहे हैं कि जिले में कोई भी स्कूल शौचालय विहीन नहीं है। लेकिन इस सवाल का जवाब किसी के पास नहीं है कि कितने बालक-बालिका स्कूलों में शौचालय हैं और इनमें कितने चालू हालत में हैं। विभाग के सब-इंजीनियर पीके दास ऑफिस अवकाश पर हैं और उनका मोबाइल लगातार बंद आ रहा है। बंडा ब्लॉक के सिर्फ एक स्कूल डिलाखेड़ी में शाैचालय नहीं होने की बात कुबूली जा रही है। अफसरों का कहना है कि इस स्कूल के शौचालय निर्माण के लिए भी 1.40 लाख रुपए स्वीकृत हो गए हैं।

4% स्कूल फाइव स्टार रेटिंग में, सागर का नंबर ही नहीं लगा

मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा पिछले दिनों कराए गए प्रदेश के सरकारी स्कूलों के स्वच्छता सर्वे 85500 स्कूलों में से सिर्फ 4 फीसदी स्कूल की फाइव स्टार रेटिंग हासिल कर पाए हैं। इनमें सागर जिले से एक भी स्कूल को यह तमगा नहीं मिल सका है। हालात इतने खराब हैं कि सागर शीर्ष 5 जिलों में भी अपनी जगह नहीं बना पाया। शहडोल, सीधी, सीहोर और उज्जैन जैसे जिले सागर से आगे निकल गए हैं। सर्वे के दौरान स्कूलों में स्वच्छता सुविधाओं की उपलब्धता, नियमित सफाई व्यवस्था, साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था, शौचालयों का नियमित संधारण एवं रखरखाव और विद्यार्थियों तथा शिक्षकों की स्वच्छता अभियान में सक्रिय सहभागिता का आकलन किया गया था।

देवरी
देवरी में भी खराब हालात मिले। स्कूलों में गंदगी पसरी थी और शौचालयों में ताले। माध्यमिक शाला की प्रभारी प्राचार्य श्रीमती मनोज जैन ने बताया कि जब स्वीपर मिल जाता है तब सफाई करा लेते हैं। जब उनसे कहा गया इतनी ज्यादा गंदगी है और आपने सफाई कब से नहीं कराई तो उनका तर्क था कि आप स्वीपर को फोन लगा कर पूछ लो उसने कब सफाई की थी। पुरैना करन माध्यमिक शाला में शौचालयों की छत गायब है और शौचालय में ताले लगे हुए हैं । ग्राम पथरिया दुबे में बालिकाओं के लिए शौचालय हंै जिसमें ताला लगा हुआ था ।

बंडा
शासकीय प्राथमिक शाला डिलाखेड़ी में कक्षा पहली से पांचवीं तक कुल दर्ज संख्या 77 हैं। जिसमें से 45 छात्राएं एवं 32 छात्र हैं। प्रभारी प्रधान अध्यापक अनिल कुमार जैन से छात्राआंे के लिए टायलेट की व्यवस्था के लिए पूछा ताे ताला लगा शौचालय बता दिया जिसकी चाबी प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षिका से मंगाई गई। ताला खोला तो शौचालय खस्ता हालत में था। यहां बच्चे खुले में शौच जाने को मजबूर हैं।

रहली
प्राथमिक माध्यमिक हाई और हायर सेकंडरी स्कूलों के छात्र-छात्राएं शौचालय और टायलेट की समस्या से जूझ रहे हैं। कारण कहीं प्रसाधन और शौचालय जर्जर हैं तो कहीं सीट फूटी है। तालाबंदी है। ब्लाॅक में शहरी क्षेत्र के इक्का-दुक्का स्कूलों को छोड़ दें तो ग्रामीण क्षेत्र के 99 फीसदी स्कूलों में शौचालय और टायलेट की स्थिती बदतर है। बीआरसी आरएस दीक्षित का कहना है कि 278 प्राथमिक, 110 माध्यमिक स्कूलें हैं। हर कहीं शौचालय और टायलेट बने हैं। पर कहीं-कहीं स्थिती ठीक नहीं है। पानी की समस्या है तो कहीं भवन पुराने हैं।

अंधेरी तस्वीरों के बीच यहां मिला स्वच्छता का उजाला

अमरमऊ के शासकीय मिडिल कन्या स्कूल के शौचालय को हम जिले के सबसे स्वच्छ स्कूल भी कह सकते हैं। क्योंकि यहां शौचालय में रोज साफ सफाई होती है। यहां के बच्चों का कहना था कि साफ-सफाई होने से बीमारियां फैलने का खतरा नहीं रहता। प्रधानाध्यापक जैन ने बताया कि हाल ही में शौचालय बाथरूम की मरम्मत का कार्य शाला विकास समिति के माध्यम से कराया गया।

शाहगढ़
ग्राउंड रिपोर्ट: मनोज स्वामी, विकास चौरसिया, रामगोपाल गोस्वामी, प्रकाश अदावन

Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
X
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
Sagar News - mp news claim toilets in all schools reality only 559 out of 2921 schools in the district have this facility somewhere shabby locks are lying somewhere
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना