सौंठ के भावों में हल्की-सी गिरावट की आशा

Sagar News - नई दिल्ली| आपूर्ति एवं उपलब्धता में कमी आने तथा मांग का हल्का-फुल्का समर्थन मिलने से हाल ही में यहां सौंठ में...

Feb 15, 2020, 09:06 AM IST

नई दिल्ली| आपूर्ति एवं उपलब्धता में कमी आने तथा मांग का हल्का-फुल्का समर्थन मिलने से हाल ही में यहां सौंठ में सुधार हुआ है। लेकिन अब अदरक की आवक एक बार फिर बढ़ने लगी है तथा यह थोड़ी मंदी भी हुई है। इसके अलावा कोच्चि में आवक भी अब लगभग नियमित हो गई है। अत: आगामी दिनों में सौंठ थोड़ी-बहुत मंदी हो सकती है।

केरल की कोच्चि समेत अन्य प्रमुख मंडियों में बीते करीब डेढ़-दो सप्ताहों से सौंठ की आवक लगभग नियमित हो गई है। कोच्चि मंडी में सौंठ की करीब 100 बोरियों की आवक होने लगी। इसके बाद भी वहां सौंठ मंदी नहीं हो पा रही है। कोच्चि मंडी में सौंठ कीमत क्वालिटीनुसार 280/300 रुपए प्रति किलोग्राम के बीच बनी रही। माना जा रहा है कि इस बार अखिल भारतीय स्तर पर सौंठ की आपूर्ति की जिम्मेदारी कर्नाटक पर ही बनी रहेगी। कर्नाटक की सागर लाईन मजबूती बनी होने समाचार आ रहे हैं। हालांकि कुछ स्टॉकिस्टों द्वारा वर्षा से प्रभावित अदरक से तैयार की गई सौंठ की भाव घटाकर बिक्री किए जाने की खबरें भी रह-रहकर आती रही हैं। इसकी वजह से बाजार की धारणा प्रभावित हो रही है। सागर लाईन में सौंठ की कीमत क्वालिटीनुसार 230 से 250 रुपए के बीच होने की रिपोर्ट मिली। आजादपुर स्थित थोक फल-सब्जी मंडी में अदरक की आवक एक बार फिर बढ़ने लगी है। फिलहाल दीमापुर, बंगलौर और सिलीगुड़ी से अदरक की आपूर्ति हो रही है। बंगलौर की अदरक फिलहाल 52 से 55 रुपए प्रति किलोग्राम बनी हुई है। सिलीगुड़ी और दीमापुर की अदरक की कीमत 50 से 55 रुपए के आसपास बोली जा रही है। इससे पूर्व केरल में भारी वर्षा होने और कई क्षेत्रों में बाढ़ भी आ जाने से कामकाजी गतिविधियां प्रभावित हो गई थीं। बर्फबारी होने के कारण जम्मू-कश्मीर और हिमाचल जैसे पर्वतीय राज्यों की लिवाली भी सुस्त बनी हुई है। लागत ऊंची होने और कीमत उम्मीद से नीची होने के कारण उत्पादकों का सौंठ बनाने की ओर ध्यान कम होता जा रहा है। पिछले कुछ समय से अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारतीय सौंठ की कीमत बीते करीब एक महीने से 4.29 डॉलर प्रति किलोग्राम पर स्थिर बनी हुई है। एक वर्ष पूर्व की समीक्षागत अवधि की तुलना में इसकी नवीनतम कीमत 0.33 डॉलर या 8.33 प्रतिशत ऊंची है। हालांकि चीन की सौंठ की कीमत अपेक्षाकृत रूप से नीची है। गत एक महीने से चीन की सौंठ 3.46 डॉलर पर अपरिवर्तित बनी हुई है। एक वर्ष पूर्व की समानावधि में भी इसकी यही कीमत थी। नई फसल शुरू होने के बाद से लेकर अभी तक केरल में सौंठ की आवक नगण्य ही बनी होने का एक प्रमुख कारण यह है कि उत्पादक अदरक से सौंठ बनाने में अब दिलचस्पी कम ले रहे हैं। दिल्ली थोक किराना बाजार में सौठ सामान्य पिछले कुछ समय से 25,500 से 26,000 रुपए प्रति क्विंटल के स्तर पर बनी हुई है। वित्त वर्ष 2019-20 की पहली छमाही में देश से 200.55 करोड़ रुपए कीमत की 11,910 टन सौंठ का निर्यात हुआ। इसकी तुलना में पिछले वित्त वर्ष की आलोच्य छमाही में इसकी 9075 टन मात्रा का निर्यात हुआ था और इससे 98.01 करोड़ रुपए की आय हुई थी।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना