किसानों को अब तक नहीं हुआ 26.41 करोड़ का भुगतान, 4 माह पहले बेची उड़द व मूंग

Sagar News - अब राशि के लिए बैंकों के चक्कर काट रहे फसल बेचने वाले किसान भास्कर संवाददाता| .सागर चार माह पहले सहकारी...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 04:31 AM IST
Sagar News - mp news farmers did not have paid 2641 crore so far sold 4 months ago urad and moong
अब राशि के लिए बैंकों के चक्कर काट रहे फसल बेचने वाले किसान

भास्कर संवाददाता| .सागर

चार माह पहले सहकारी सोसायटियों ने किसानों से उड़द, मूंग खरीदी, लेकिन उसका भुगतान सभी किसानों को अब तक नहीं किया गया। 26.41 करोड़ रुपए का भुगतान रुकने से किसान परेशान हैं और बैंकों के चक्कर काट रहे हैं। जिला विपणन अधिकारी देवेंद्र यादव ने बताया ऐसा नहीं, इस बकाया राशि में से 22 करोड़ रुपए दो दिन पहले और जारी कर दिए हैं। अब जो भी राशि बकाया है वह कोई बहुत बडी रकम नहीं है।

जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक से मिला जानकारी में बताया गया है कि जिला विपणन संघ से किस्तों में पिछले दिनों तक 361. 70 करोड़ रुपए मिले है। इस राशि को हेड आफिस द्वारा अधीनस्थ 19 शाखाओं को भेजा गया है ताकि किसानों को भुगतान किया जा सके, लेकिन बैंक शाखाओं में अपने खाते से राशि निकालने के लिए पहुंच रहे किसानों का कहना है कि भुगतान बैंक ने अटका रखा है। लंबे इंतजार के बाद भुगतान से शेष रहे जिले के 52 हजार 12 किसानों में से 41 हजार 316 किसानों को मूंग, उड़द का 361.70 करोड़ रुपए का भुगतान उनके खाते में जमा कराने का दावा बैंक महाप्रबंधक डीके राय द्वारा किया जा रहा है।

गौरतलब है कि जिला विपणन संघ द्वारा अक्टूबर माह के अंतिम सप्ताह से समर्थन मूल्य और भावांतर योजना के तहत उड़द व मूंग की 70 जगहों पर खरीदी शुरू की गई थी। सोसायटियों और मार्कफेड संस्थाओं ने 51364 किसानों से 686867.22 क्विंटल उड़द व 648 किसानों से 5258 किलों मूंग खरीदी थी। दाेनों ही जिंसों का हजारों किसानों का भुगतान पिछले तीन माह तक तो फंड के अभाव में अटका रहा। लंबे इंतजार के बाद 41 हजार 316 किसानों को मूंग, उड़द का 361.70 करोड़ रुपए का भुगतान उनके बैंक खाते में किया गया है। जिला विपणन संघ 2 करोड़ 41 लाख की राशि ही बाकी बता रहा है, जबकि केंद्रीय जिला सहकारी बैंक के अधिकारियों का कहना है कि 26 करोड़ 41 लाख रुपए का भुगतान अब भी रुका हुआ है।

देर से शुरु हुई थी खरीदी: जिले में समर्थन मूल्य और भावांतर दोनों योजना में खरीफ की उड़द, मूंग फसल की खरीदी 20 अक्टूबर से होनी थी लेकिन दो हफ्ते के बिलंब से शुरु हो सकी। समर्थन मूल्य में उड़द 5600 और मूंग 6975 रुपए क्विंटल के रेट पर 70 केंद्रों पर 25 जनवरी तक खरीदी गई।अलग-अलग फसलों के लिए 1 लाख 20 हजार 455 किसानों ने पंजीयन कराया था। उड़द, मूंग सहित समर्थन मूल्य पर खरीदी जाने वाली फसलों में 88 हजार किसानों ने पंजीयन कराया था। इनमें अकेले उड़द के लिए पंजीयन कराने वाले किसानों की संख्या 83 हजार 101 थी। खाद्य आपूर्ति अधिकारी राजेंद्र सिंह वाइकर ने पहले बताया कि सत्यापन का काम 20 अक्टूबर के बाद तक चला।इस कारण मूंग, उड़द सहित सभी फसलों की खरीदी 20 अक्टूबर के 15 दिन बाद जिले के 69 केंद्रों पर शुरू की गई। लेकिन जिले में खरीदी70 केंद्रों पर हुई ।

किसानों की शिकायत, बैंकों की भु्गतान व्यवस्था बेकार

केरबना, कर्रापुर, बिलहरा,सत्ताढाना गांव किसानों का कहना है कि उपार्जन केंद्रों पर उपज तुलवाए दो से तीन माह से ज्यादा समय हो गया है। इसके बावजूद खातों में राशि जारी नहीं हो सकी है। किसानों ने बताया कि पिछले दिनों जब उनके घरों में शादियां थी। तब अधिकारियों ने उनकी समस्या पर ध्यान ही नहीं दिया । अब शादियों की उधारी चुकाने पैसों की जरुरत है। शुक्रवार को दोपहर सदर स्थित केंद्रीय सहकारी बैंक शाखा में किसानों की भीड़ लगी थी। इसमें से कई किसानों ने बताया कि जैसे- तैसे रुपए आ गए तो जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की शाखाओं में पेमेंट के लिए पर्याप्त राशि नहीं रहती है। जब दूसरे बैंक से राशि आती है तब हमें बैंक से भुगतान मिल पाता है।

X
Sagar News - mp news farmers did not have paid 2641 crore so far sold 4 months ago urad and moong
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना