• Hindi News
  • Madhya Pradesh
  • Sagar
  • Sagar News mp news girls39 higher secondary school subhashnagar is being given to 165 girls special nutritious diet 95 of the school39s students have poor financial position

कन्या हायर सेकंडरी स्कूल सुभाषनगर में 165 छात्राओं को दिया जा रहा है विशेष पौष्टिक आहार, स्कूल की 95% छात्राओं के परिवार की आर्थिक स्थिति है कमजोर

Sagar News - पढ़ाई के तनाव के बीच छात्राएं रहें तंदुरुस्त इसीलिए शिक्षक लंच में दे रहे अंकुरित सलाद और फल भास्कर...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:27 AM IST
Sagar News - mp news girls39 higher secondary school subhashnagar is being given to 165 girls special nutritious diet 95 of the school39s students have poor financial position
पढ़ाई के तनाव के बीच छात्राएं रहें तंदुरुस्त इसीलिए शिक्षक लंच में दे रहे अंकुरित सलाद और फल

भास्कर संवाददाता | सागर

बोर्ड परीक्षा नजदीक आ गई हैं। ऐसे में स्कूल से लेकर घर और कोचिंग तक में विद्यार्थियों पर पढ़ाई का प्रेशर भी बढ़ना शुरू हो गया है।

स्कूलों में जहां शेष बचा हुआ कोर्स तेजी से पूरा कराया जा रहा है, वहीं कोचिंग में तेजी से रिव्यू पर जोर दिया जा रहा है। इसी प्रकार घर पर भी रोजाना यह बात बाेली जाने लगी है कि पढ़ाई पर ध्यान दो इस बार बोर्ड के इम्तिहान हैं। इन सबके बीच शासकीय कन्या हायर सेकंडरी स्कूल सुभाषनगर में एक नई पहल की गई है। यहां के एक शिक्षक डॉ. बीडी पाठक द्वारा यहां स्कूल में अध्ययनरत सभी 165 छात्राओं को अंकुरित चना, मूंग दाल, फल आदि की सलाद दी जा रही है। ऐसा इसलिए ताकि छात्राएं परीक्षा के दौरान तंदुरूस्त रहें।

1 जनवरी को नए साल के दिन उन्होंने इसकी शुरुआत की जो अब वार्षिक परीक्षा तक जारी रहेगी। प्राचार्य अवधेश सिंह ने इसका विधिवत शुभारंभ किया।

शिक्षक पाठक बताते हैं कि यहां अध्ययनरत छात्राओं में से 95 फीसदी ऐसी हैं जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति कमजोर है। यही वजह है कि मैं इन्हें इस तरह की व्यवस्था कर रहा हूं। इतिहास विषय से पीएचडी करने वाले डॉ. पाठक ने पिछले साल 170 छात्राओं की परीक्षा नामांकन फीस भी भरी थी। इस प्रकार वे स्कूल में नवाचार के साथ ही सहयोगात्मक काम भी करते रहते हैं।

एक्सपर्ट बोले : बदलते मौसम के साथ आहार पर ध्यान दें बच्चे और अभिभावक

डाॅॅ. हरीसिंह गौर विवि के मेडिकल ऑफिसर डॉ. अभिषेक जैन का कहना है कि इस समय पढ़ाई के साथ बच्चों के खाने-पीने का ख्याल रखना जरूरी है। मौसम भी बदल रहा है और एग्जाम का दबाव भी है। ऐसे में पैरंट्स बच्चों को गरिष्ठ भोजन न दें। इससे परीक्षा की तैयारी में लगे बच्चों में अपच और आलस्य बढ़ेगा। इसकी जगह हल्का पौष्टिक आहार खाने को दें। पानी व जूस जैसे तरल पदार्थ की मात्रा ज्यादा रखें। अंकुरित खाने को बच्चों की डाइट में जरूर शामिल करें। सबके साथ बैठकर लंच और डिनर करें, इससे बच्चे का मूड भी फ्रेश होगा और वह खाना भी ठीक से खा सकेगा। दाल के अलावा सोयाबीन, हरी सब्जी व सलाद को बच्चे के नियमित आहार में शामिल करें। यदि किसी स्कूल में ही शिक्षक द्वारा रोजाना अंकुरित सलाद देने का काम किया जा रहा है तो यह बहुत ही अच्छा काम है।

X
Sagar News - mp news girls39 higher secondary school subhashnagar is being given to 165 girls special nutritious diet 95 of the school39s students have poor financial position
COMMENT