पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Sagar News Mp News We Should Eradicate Hatred From Our Hearts And Adopt Tolerance Like Parshwanathji Acharyashree

हमें मन से बैर भाव मिटा करके पार्श्वनाथजी के समान सहनशीलता अपनानी चाहिए : अाचार्यश्री

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पार्श्वनाथ भगवान की साधना के सामने कमठ हार गया। हमें मन से बैर भाव मिटा करके भगवान पार्श्वनाथ के समान सहनशीलता अपनानी चाहिए। यह बात पारसनाथ दिगंबर जैन मंदिर अंकुर कॉलोनी में चल रहे वर्षा कालीन चातुर्मास में वैज्ञानिक संत आचार्यश्री निर्भय सागर महाराज ने धर्म सभा में कही। आचार्यश्री ने मुकुट सप्तमी की कथा बताते हुए कहा कि मुकुट शेखरी नामक बालिका ने श्रावण शुक्ल सप्तमी के दिन का उपवास रखकर भगवान पार्श्वनाथ की आराधना की थी। जिससे उसके सारे कष्ट समाप्त हो गए थे। इसी कारण मुकुट सप्तमी नाम पड़ गया। आज ही के दिन भगवान पार्श्वनाथ ने पुरुषार्थ करके तप के द्वारा श्री सम्मेद शिखर के स्वर्ण भद्र कूट से मुक्ति निर्माण को प्राप्त किया था। जैन दर्शन में मुक्ति मोक्ष निर्वाण का प्रतीक है। 23वें तीर्थंकर के मोक्ष कल्याणक पर 23 बालिकाओं ने उपवास रखा।

जैन मंदिर अंकुर काॅलाेनी में हुआ महामस्तकाभिषेक

मंगलगिरी में लाडू सजाओ प्रतियोगिता हुई

सागर | शांतिनाथ शाखा ने मंगलगिरी पर पार्श्वनाथ भगवान के निवार्ण पर लाडू सजाओ प्रतियोगिता की। भगवान का मस्तकाभिषेक चेयरपर्सन आशा सेठ, पूर्व अध्यक्ष सुधा चौधरी, शाखा अध्यक्ष आरती सवाई, अंजू सेठ, अंजना सेठ, खुशबू, रिचा आदि ने किया।

सागर | पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर अंकुर कॉलोनी मकरोनिया में जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर मूलनायक भगवान पार्श्वनाथ का मोक्ष कल्याणक मनाया गया। आचार्यश्री निर्भय सागर महाराज के ससंघ सानिध्य में भगवान का महामस्तकाभिषेक बड़ी संख्या में लोगों ने किया। महामस्तकाभिषेक में आलोक जैन देवरी, रजनीश जैन गौरझामर, प्राे. अमरचंद जैन, पुनीत कुमार, विनीत कुमार, विमल कुमार बिलानी ने कलश चढ़ाए। भगवान की शांति धारा सुरेंद्र जैन मालथौन एवं डॉ. भागचंद, सुधीर कुमार, सतीश कुमार ने की। माेक्ष कल्याणक पर लाडू माया खेम चंद जैन ढाना, अनिल सिंघई एवं मनोज जैन लालो परिवार ने अर्पित किए। बताया गया कि श्रावण शुक्ला सप्तमी को भगवान पार्श्वनाथ ने सम्मेद शिखर के स्वर्ण भद्र कूट से निर्वाण अर्थात मोक्ष को प्राप्त किया था।

खबरें और भी हैं...