• Hindi News
  • Mp
  • Sagar
  • Sagar News mp news young people are the protectors of culture they will take forward the religion chariot acharyashree

युवा ही संस्कृति के रक्षक, वे ही धर्म रथ को आगे लेकर जाएंगे : अाचार्यश्री

Sagar News - जिस व्यक्ति के पास जितना अधिक परिग्रह होता है वह नरक जाता है। जिसके पास जितना कम परिग्रह होता है वह स्वर्ग जाता है।...

Jan 16, 2020, 09:10 AM IST
जिस व्यक्ति के पास जितना अधिक परिग्रह होता है वह नरक जाता है। जिसके पास जितना कम परिग्रह होता है वह स्वर्ग जाता है। ऐसा जैन दर्शन में कहा गया है। इसलिए जिस के जितने ज्यादा पुत्र-पुत्री होते हैं वह स्वर्ग और जिसके कम पुत्र पुत्री हैं वह नरक जाएगा। पुत्र पुत्री परिग्रह घटाने वाले हैं, बढ़ाने वाले नहीं। यह बात आचार्यश्री निर्भय सागर महाराज ने बाहुबली कॉलोनी जैन धर्मशाला में धर्मसभा में कही।

उन्होंने कहा कि एक पिता की 5 करोड़ की संपत्ति है। चार बेटों में वह बराबर बांटेंगे तो पिता के पास मात्र एक करोड़ का ही परिग्रह रहेगा और यदि एक ही पुत्र है तो पिता के पास ढाई करोड़ का परिग्रह रहेगा। समाज में मृत्यु दर बढ़ती जा रही है। यह जैन संस्कृति के लिए अच्छा संकेत नहीं है। आचार्यश्री ने समाज को प्रेरणा देते हुए कहा कि बहुमत का युग है। उन्होंने कहा बेटा बेटी चेतन धन हैं। परंतु हम अचेतन धन को इकट्ठा कर रहे हैं। हमारे पुत्र-पुत्री पढ़ लिखकर बड़े महानगरों की ओर भाग रहे हैं।

अगर हमने संस्कृति को बढ़ाने के बारे में नहीं सोचा तो सबसे प्राचीन संस्कृति विलुप्तता के कगार पर पहुंच जाएगी। युवा ही हमारी संस्कृति के रक्षक हैं। ग्रंथों में लिखा है युवा ही धर्म रथ को खींचकर आगे लेकर जाएंगे। इसलिए युवाओं से उम्मीद है। युवा ही ज्ञान संस्कारों द्वारा धर्म को चेतना प्रदान कर सकते हैं। इसलिए हम जागेंगे धर्म बढ़ेगा और धर्म बढ़ेगा तो संस्कृति बढ़ेगी।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना