• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Sagar
  • Sagar - रूस ने युद्धाभ्यास में तीन लाख जवान, 36 हजार टैंक, 1000 से ज्यादा विमान, 80 युद्धपोत उतारे, चीन भी हिस्सा ले रहा है
--Advertisement--

रूस ने युद्धाभ्यास में तीन लाख जवान, 36 हजार टैंक, 1000 से ज्यादा विमान, 80 युद्धपोत उतारे, चीन भी हिस्सा ले रहा है

57 देशों के पर्यवेक्षक इस पर नजर रखेंगे 3 हजार जवान चीन ने भेजे, युद्धाभ्यास 17 सितंबर तक चलेगा मॉस्को| रूस में...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:06 AM IST
57 देशों के पर्यवेक्षक इस पर नजर रखेंगे

3 हजार जवान चीन ने भेजे, युद्धाभ्यास 17 सितंबर तक चलेगा

मॉस्को| रूस में मंगलवार को शीत युद्ध के 37 साल बाद सबसे बड़ा सैन्य अभ्यास शुरू हुआ। इसमें तीन लाख जवान हिस्सा ले रहे हैं। रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया- पूर्वी साइबेरिया में वोस्तोक-2018 में पूर्वी और मध्य सैन्य डिस्ट्रिक्ट्स के सदस्य, पैसिफिक एंड नॉर्दन फ्लीट्स, एयरबोर्न फोर्स, 1000 से ज्यादा विमान, 36 हजार टैंक, 80 युद्धपोत भाग ले रहे हैं। इस ड्रिल में चीन ने 3200 जवान भेजे हैं। इसे रूस की ताकत दिखाने का प्रयास माना जा रहा है, क्योंकि हाल में उस पर जासूसी के आरोप लगे हैं। ड्रिल पर रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, 57 देशों के पर्यवेक्षक नजर रखेंगे।

युद्धाभ्यास 1981 जैसा, पर जवान कई गुना ज्यादा

सैन्य अभ्यास दो चरणों में होगा। पहला चरण 17 सितंबर को खत्म होगा। इसमें जवानों को रूस के पूर्वी भाग, उत्तर-प्रशांत और उत्तरी सागर के पास तैनात किया जाएगा। यह युद्धाभ्यास 1981 में हुए युद्धाभ्यास जैसा है, पर इस बार जवानों की संख्या कई गुना ज्यादा है। युद्धाभ्यास में रूस के 10 लाख में से एक तिहाई सैनिक शामिल हो रहे हैं। इस युद्धाभ्यास का नाॅर्थ एटलांटिक ट्रीटी ऑर्गेनाइजेशन (नाटो) ने विरोध किया है।

चीन-रूस ने 15 साल में 30 ड्रिल कीं